देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं

किसी भी इंसान की काबिलियत उसके रंग-रूप, आकार या कद से नहीं मिलती। इस बात की असल बानगी पंजाब के जालंधर की हरविंदर कौर ने पेश की, जिन्होंने अपने छोटे कद को अपनी कमजोरी नहीं प्रेरणा बनाया और कामयाबी हासिल की है। एक ऐसा मुकाम जिसके लोग सपने देखते हैं रामामंडी के अरमान नगर की
 | 
देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं

किसी भी इंसान की काबिलियत उसके रंग-रूप, आकार या कद से नहीं मिलती। इस बात की असल बानगी पंजाब के जालंधर की हरविंदर कौर ने पेश की, जिन्होंने अपने छोटे कद को अपनी कमजोरी नहीं प्रेरणा बनाया और कामयाबी हासिल की है। एक ऐसा मुकाम जिसके लोग सपने देखते हैं रामामंडी के अरमान नगर की हरविंदर कौर उर्फ रूबी ने उसे सच कर दिखाया।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

हरविंदर को अपने छोटे कद के चलते कई लोगों के ताने सुनने पड़े। बता दे उनका कद 3 फुट 11 इंच का है। हरविंदर कौर कहती है कि भीड़ में वह हमेशा खुद को सबसे अलग महसूस करती हैं। वह जहां से भी गुजरती है लोग उन पर अपनी नजर टीका लेते हैं। वह लोगों की हंसी का पात्र बनकर और खुद को कमरे में बंद रखने की पीड़ा से भी गुजर चुकी है।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

हरविंदर का कहना है यह ऐसी पीड़ा है जिसे बयां कर पाना आसान नहीं है, लेकिन उन्होंने अपनी इस पीड़ा को ही अपनी प्रेरणा बना लिया और आज वह देश की सबसे छोटी एडवोकेट बन गई हैं। उनके इस पद में उन सभी लोगों को जवाब दिया है जो एक समय उन्हें उनके छोटे कद के चलते ताने दिया करते थे।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

हरविंदर कौर का कहना है कि डेढ़ माह पहले ही उन्होंने एलएलबी की डिग्री हासिल की है, जिसके बाद जब एनरोलमेंट सर्टिफिकेट मिला तो उनके माता-पिता की आंखें नम हो गई। ऐसा लगा जैसे उन्हें कई सालों बाद कोई बड़ी खुशी मिली हो। हरविंदर को 23 नवंबर को बार काउंसलिंग ऑफ पंजाब एंड हरियाणा से लाइसेंस व एनरोलमेंट सर्टिफिकेट सौंपा गया है।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

हरविंदर अब क्रिमिनल केस हैंडल करना चाहती है और ज्यूडिशियल सॢवसिज की तैयारी कर रहीं हैं।उनकी इस कामयाबी पर उनके पिता शमशेर सिंह का कहना है कि वह अपनी बेटी की इस कामयाबी पर गर्व महसूस करते हैं। उन्हें बेहद खुशी है कि उनकी बेटी ने उनका नाम रोशन किया है।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

बता दे हरविंदर के पिता शमशेर सिंह फिल्लौर ट्रैफिक पुलिस में एएसआई और माता सुखदीप कौर एक हाउसवाइफ है। हरविंदर ने अपनी 12वीं की पढ़ाई पुलिस डीएवी स्कूल जालंधर से की है। उनका बचपन से शौक था कि वह एयर होस्टेस बने और आसमान में उड़ान भरे, लेकिन चौथी कक्षा में आकर ही उनका कद बढ़ना बंद हो गया।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

इस दौरान माता ने उनके इलाज के लिए हर कोशिश की। इलाज के दौरान पता चला कि हारमोंस की कमी के कारण उनकी हड्डियों का विकास रुक गया है।

देश की सबसे छोटी वकील! छोटे कद को लेकर लोगों ने दिए ताने, आज समाज के लिए प्रेरणा बनीं
Social Media

ऐसे में कद का बढ़ना रूकना उनके लिए परेशानी का सबब जरूर बना, लेकिन उन्होंने अपनी इस शारीरिक कमी को कभी खुद पर हावी नहीं होने दिया। उन्होंने अपनी इस कमी को अपनी प्रेरणा बनाया और बिना किसी की परवाह किए अपने सपनों की राह पर चलती रही और उसे हासिल कर दिखाया।