बंगाल: जंहा बन रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैदिक श्री कृष्ण मंदिर, जानिए खासियतें

 | 
mayapur krishna mandir

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से 130 किमी दूर नदिया जिले के मायापुर में दुनिया का सबसे बड़ा कृष्ण मंदिर बन रहा है। मायापुर (Mayapur) भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के नदिया ज़िले में स्थित एक नगर है। यह गंगा नदी के किनारे, उसके जलंगी नदी से संगम के बिंदु पर बसा हुआ एक छोटा सा शहर है। मायापुर नवद्वीप के निकट है और कोलकाता 130KM उत्तर में स्थित है। 

ह हिन्दू धर्म के गौड़ीय वैष्णव सम्प्रदाय के लिए अति पावन स्थल है। यहां उनके प्रवर्तक श्री चैतन्य महाप्रभु का जन्म हुआ था। इन्हें श्री कृष्ण एवं श्री राधा का अवतार माना जाता है। यहां लाखों श्रद्धालु तीर्थयात्री प्रत्येक वर्ष दशनों हेतु आते हैं। यहां इस्कॉन समाज का बनवाया एक मंदिर भी है। इसे इस्कॉन मंदिर, मायापुर कहते हैं।

ऐसा है दुनिया का सबसे बड़ा कृष्ण मंदिर

Mayapur krishna Mandir
Image Source: Social media

यह एक यूनीक टेम्पल है। इसमें कुल 7 फ्लोर हैं। यूटिलिटी फ्लोर, पुजारी फ्लोर, टेम्पल फ्लोर के बाद म्यूजियम फ्लोर्स हैं। मंदिर 6 लाख स्क्वायर फीट से भी ज्यादा एरिया में फैला हुआ है। मंदिर के फ्रंट में 45 एकड़ में गार्डन है, जबकि मंदिर 12 एकड़ में बना हुआ है।

पुजारी फ्लोर फरवरी-2020 में ही तैयार हो चुका है। साल 2023 में मंदिर का 80% काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद इसे भक्तों के लिए खोलने की योजना है। मंदिर का निर्माण इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ कृष्णा कॉन्सियशनेस यानी इस्कॉन (ISKON) करवा रहा है। मंदिर के चेयरमैन अल्फ्रेड फोर्ड हैं, जो यूएस की ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्ड के संस्थापक हैं। इस्कॉन जॉइन करने के बाद उनका नाम अब अंबरीश दास है।

क्या है मंदिर की खाशियत?

mayapur krishna mandir
Image Source: Social media

अंदर से देखने पर मंदिर किसी पैलेस की तरह नजर आता है। इंटीरियर तो पश्चिम के हिसाब से है, लेकिन इसमें फील वैदिक संस्कृति का है। मंदिर की ऊंचाई 350 फीट है। गुंबद का व्यास 177 मीटर है। 6 लाख स्क्वायर फीट में फैला हुआ है। यह दुनिया का सबसे बड़ा वैदिक मंदिर है। इसमें कुल 7 फ्लोर हैं। यूटिलिटी फ्लोर, पुजारी फ्लोर, टेम्पल फ्लोर के बाद म्यूजियम फ्लोर्स हैं।

मंदिर की ऊंचाई 350 फीट है। गुंबद का व्यास 177 मीटर है। मंदिर 6 लाख स्क्वायर फीट से भी ज्यादा एरिया में फैला हुआ है। मंदिर के फ्रंट में 45 एकड़ में गार्डन है, जबकि मंदिर 12 एकड़ में बना हुआ है। राजस्थान के मकराना और वियतनाम से व्हाइट मार्बल, फ्रांस से रेड मार्बल, इटली से ब्लू मार्बल बुलवाया है। ताकि दुनिया का सबसे खूबसूरत मंदिर बने।

mayapur krishna mandir
Image Source: Social media

गुंबद के अंदरूनी भाग में कॉस्मोलॉजिकल मॉडल तैयार किया जा रहा है। यानी यहां दुनिया क्यों बनी, कैसे बनी, किसने बनाई, यह सब भी भक्तों को पता चलेगा। मंदिर के फोकस में अध्यात्म और विज्ञान दोनों हैं। मंदिर के गुंबद में कॉस्मोलॉजिकल मॉडल नजर आएगा, जो दुनिया की रचना के बारे में बताएगा।