आज कौन हारा, इस्लाम या पाकिस्तान? लोगो ने सवाल पूछ पूछ कर पाकिस्तानी मंत्री की नाक में किया दम!

 | 
sheikh rashid

क्रिकेट के महाकुंभ टी-20 विश्‍व कप मुकाबले में पाकिस्‍तानी क्रिकेट टीम की करारी शिकस्‍त के बाद पाकिस्‍तान के बड़बोले गृहमंत्री शेख रशीद लोगों के निशाने पर आ गए हैं। बता दें कि यह वही शेख रशीद है जिन्होंने T-20 विश्वकप के मैच में भारतीय टीम पर पाकिस्तानी टीम की जीत को पाकिस्तान के गृहमंत्री इस्लाम की जीत बताया था। 

अब पाकिस्तानी टीम की हार के बाद लोग उनसे सवाल पूछ रहे हैं कि क्या यह इस्लाम की हार है। हजारों की संख्या में लोग शेख रशीद के खिलाफ ट्वीट कर रहे हैं। अब तक हजारों की तादाद में लोग जहां शेख रशीद के खिलाफ ट्वीट कर रहे हैं, वहीं पाकिस्‍तानी गृहमंत्री चुप्‍पी मारकर बैठे हैं। उनके मुंह से एक शव्द इस चीज पर नहीं निकल रहा है। 

पाकिस्‍तान की हार पर शेख रशीद की बोलती बंद!

पाकिस्तान टीम की हार हो गई है ऑस्ट्रेलिया ने पांच विकेटों से मैच जीतकर फाइनल में जगह बना ली है।  पाकिस्तान की हार के बाद अफगानिस्तान, इण्डिया, बलूचिस्तान इत्यादि देशो में जमकर जश्न मनाया गया है और लोग अलग अलग तरह से प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं, वहीं ट्वीटर यूजर्स पाकिस्तानी गृहमंत्री से पूछ रहे हैं, क्या आज इस्लाम हार गया है? 


वंही पाकिस्‍तान की हार के बाद गृहमंत्री की बोलती बंद हो गई है। उन्होंने सिर्फ इतना ट्वीट किया:-

"पाकिस्‍तान आपने अच्‍छा खेला। सेमीफाइनल को छोड़कर आपने पूरे टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन किया। फिर भी कोई बात नहीं। पाकिस्‍तान की 22 करोड़ जनता के चेहरे पर खुशी लाने और शानदार प्रयास के लिए धन्‍यवाद।"

अपने इस ट्वीट में पाकिस्तानी मंत्री ने कंही भी इस्लाम की हार-जीत का जिक्र नहीं किया। क्यूंकि अब उन्हें ये सूट नहीं करता। ऐसे नेता लोग तभी इस तरह के भड़काऊ ट्वीट करते है जब जनता को धर्म के नाम पर बरगलाना हो। ऐसा हम नहीं अब जनता ही कह रही है। तभी तो जनता ट्वीटर पर इमरान के मंत्री से पूछ रही है कि बताओ पाकिस्तान मैच हारा या इस्लाम हार गया?

यंहा देखिये लोगो की प्रतिक्रिया 


 


 


 


 


 


भारत की हार पर मंत्री ने बताया इस्लाम की जीत 

इससे पहले भारत के खिलाफ मिली जीत के बाद पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद ने धर्म को लेकर बयानबाजी की थी। उन्होंने पाकिस्तानी टीम की जीत को आलमी इस्लाम की जीत करार दिया था। उन्होंने कहा था:-

"मुझे अफसोस है कि यह पहला हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मैच है जो मैं कौमी जिम्मेदारियों की वजह से ग्राउंड में नहीं देख सका। लेकिन मैंने तमाम ट्रैफिक को इस्लामाबाद, रावलपिंडी को हिदायत दी है कि रोड पर रखे कंटेनर्स को हटा दिया जाए, ताकि कौम अपने जश्न को तारीखी तरीके से मनाए।"

उन्होंने आगे कहा,  पाकिस्तान की टीम को, पाकिस्तान की कौम को मुबारक हो, आज हमारा फाइनल था। हमारा फाइनल आज ही था। पाकिस्तान जिंदाबाद....इस्लाम जिंदाबाद! दुनिया के मुसलमान समेत हिंदुस्तान के मुसलमानों के जज्बात पाकिस्तानी टीम के साथ थे। सारी आलमी इस्लाम को फतह मुबारक हो।