मुलायम सिंह ने कुमार विश्वास को दिया सपा में आने का खुला ऑफर, कवि ने जवाब में कही ये बात

 | 
kumar viswas

लखनऊ में मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सपा महासचिव प्रोफेसर राम गोपाल यादव की पुस्तक 'राजनीति के उस पार' का विमोचन समारोह आयोजित किया गया। इसमें मुलायम-अखिलेश समेत कई दलों के नेता शामिल हुए। सभी ने अपना संबोधन दिया। इसी दौरान मुलायम सिंह ने कवि कुमार विश्वास से कहा कि अगर वो किसी दल में नहीं हैं तो समाजवादी पार्टी में आ जाएं। 

ये बात मुलायम ने वरिष्ठ कवि उदय प्रताप के कान में कही। जिसे उदय प्रताप ने सभी को मंच से बता दिया। इसे सुनते ही पूरा हॉल ठहाकों से गूंज उठा। अब कुमार विस्वास ने इसका क्या जवाव दिया? आइये जानते है। 

मुलायम बोले- "हमारी पार्टी में आओ कुमार विस्वास"

kumar viswas

सपा महासचिव प्रोफेसर राम गोपाल यादव की पुस्तक 'राजनीति के उस पार' का विमोचन समारोह, जिसमे इसमें कवि कुमार विश्वास, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव व अलग-अलग राजनीतिक दलों के लोग मौजूद थे। मौके की नजाकत को भांपते हुए मुलायम सिंह ने कुमार विश्वास को सपा में शामिल होने का प्रस्ताव भी दे दिया। 

दरअसल कुमार विश्वास के संबोधन के बाद मंच पर बैठे समाजवादी विचारक डॉ. उदय प्रताप सिंह ने कहा, 'कुमार विश्वास इतने बड़े कवि हैं, अभी नेता जी हमसे कान में कह रहे थे कि अगर ये कही नहीं हैं तो इनको समाजवादी पार्टी में क्यों नहीं बुला लेते।'

kumar viswas

इतना कहने के बाद मंच पर मौजूद सभी लोग हंस पड़ें। कुमार विश्वास के साथ-साथ अखिलेश यादव भी हंसते हुए नज़र आए। लोग इस वीडियो को देखकर कयास लगा रहे हैं कि क्या वाकई में कुमार विश्वास समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने वाले हैं। हालांकि, ये वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेज़ी से वायरल भी हो रहा है। 

यंहा देखिये वायरल वीडियो 


मुलायम के ऑफर पर क्या बोले कुमार विस्वास 

कुमार विश्वास ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम लिए बगैर उन पर निशाना साधा और अखिलेश की तारीफें कीं। केजरीवाल पर हमला करते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि मैं जिसे बसाकर आया था, उन्होंने भगा दिया और दूसरे लोग सोच रहे हैं हमारे पास आ जाए। 


कुमार ने कहा कि अखिलेश यादव से कहूंगा कि लड़े संघर्ष करें, देश को आपकी जरूरत है। देश में जो चल रहा है वह चिंताजनक है। यहां गुस्से का ताप कम होने की जरूरत है। इस मिट्टी की तासीर ऐसी है कि कभी ज्यादा नफरत सहन नहीं करती।

'मुलायम इमोशन का नाम हैं'

kumar viswas

कार्यक्रम में मौजूद कुमार विश्वास ने कहा, 'मुलायम सिंह नेता नहीं भावना हैं। मुलायम सिंह को सदियां याद करेंगी, आने वाली पीढ़ी मुलायम की महानता याद करेगी, मुलायम सिंह इमोशन का नाम हैं।' कुमार विश्वास ने वर्तमान हालातों पर चिंता जाहिर करते हुए कहा देश में जो चल रहा चिंताजनक है, लोकतंत्र में लोगों की बात सुनी जाए।

फ़िलहाल राजनीती से दूर है कुमार 

kumar viswas

आपको बता दे, कुमार विश्वास पहले आम आदमी पार्टी का एक प्रमुख चेहरा थे उन्होंने अरविन्द केजरीवाल के साथ दिल्ली आंदोलन का नेतृत्व भी किया था। इसके बाद कुमार विस्वास ने साल 2014 के आम चुनाव में अमेठी से कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़े थे और नाकामयाब हो गये थे। हालांकि बाद में उन्होंने आप छोड़ दी और राजनीति से दूर हो गए।