मी लॉर्ड! केस को न्याय चाहिए: भारत का सबसे पुराना केस जो 221 सालों से आज तक पेंडिंग है

 | 
Indias Longest Pending case story

तारीख़ पे तारीख़, तारीख़ पे तारीख़...जज साहब। बॉलीवुड फ़िल्म दामिनी (Damini) में सनी देऑल का ये डायलॉग तो आप सभी को याद ही होगा। आज हम आपको ऐसे ही एक केस के बारे में बताने जा रहे है, जिसे सालो से इन्साफ नहीं मिला, मिली है तो सिर्फ तारीख। जो आज भी पेंडिंग है। पेंडिंग केस की बात करें तो यह लगभग 219 साल पुराना है। चौंक गए! लाज़िमी भी है। 

''भारत देश का सबसे पुराना केस"

Calcutta High Court
कलकत्ता हाई कोर्ट की तस्वीर.

कलकत्ता हाई कोर्ट भारत का पहला हाई कोर्ट था, जिसकी स्थापना 1862 में हुई थी। 1 जुलाई 1862 में जब इसकी स्थापना हुई, तब इसे फोर्ट विलियम हाई कोर्ट के नाम जाना जाता था। सर बैरन्स पिकॉक इसके पहले चीफ जस्टिस थे। वर्तमान दौर में कलकत्ता हाई कोर्ट को सबसे ज्यादा पेंडिंग केसों वाली अदालत माना जाता है। और इसी हाई कोर्ट में रजिस्टर्ड "केस नंबर AST/1/1800" भारत का सबसे पुराना केस माना जाता है, जिसकी सुनबाई आज तक पूरी नहीं हुई। और ये पेंडिग है। 

Indias oldest case pending
साल 1800 में दर्ज़ ‘ऐतिहासिक’ केस.

सबसे पुराने पेंडिंग केस की बात करें तो यह लगभग 219 साल पुराना है, क्योंकि जिस पेंडिंग केस AST/1/1800 की बात यहाँ की जा रही है, वो साल 1800 में किसी लोअर कोर्ट में दर्ज़ की गई होगी। निचली अदालतों में लगभग 170 साल ख़ाक छानने के बाद 1 जनवरी 1970 को यह ‘ऐतिहासिक’ केस AST/1/1800 कलकत्ता हाई कोर्ट में रजिस्टर किया गया।

Indias oldest case pending
कलकत्ता हाई कोर्ट में भी पिछले 49 साल केस पर फैसला नहीं.

लेकिन अफ़सोस की बात तो ये है कि हाई कोर्ट में भी इस केस को पिछले 51 सालों से सिर्फ़ तारीख़ पे तारीख़ ही नसीब हुई है। इस केस में आखिरी सुनवाई 20 नवंबर 2018 को हुई थी। यह आंकड़ा सरकारी है- नेशनल जूडिशियल डेटा ग्रिड का है। नेशनल जूडिशियल डेटा ग्रिड (NJDG) एक सरकारी वेबसाइट है। यहाँ देश भर की अदालतों के पेंडिंग केसों की जानकारी आपको एक क्लिक पर उपलब्ध हो जाती है।

NJDG के चौंकाने वाले आंकड़े!

Indias oldest case pending
सांकेतिक तस्वीर

यह जानकर आपको हैरानी होगी कि देशभर की क़रीब 17000 ज़िला और अधिनस्थ अदालतों में अब भी 100639 केस पेंडिंग हैं, जो 30 साल से अधिक पुराने हैं। जबकि कुल पेंडिंग केसों की संख्या 2.94 करोड़ है। विभिन्न हाई कोर्ट में 58.5 लाख मामले और सर्वोच्च न्यायालय में 69,000 से अधिक मामले लंबित हैं। 

राष्ट्रीय न्यायिक डाटा ग्रिड (एनजेडीजी) के आंकड़ों के मुताबिक़, देश की सबसे बड़ी हाई कोर्ट 'इलाहाबाद हाई कोर्ट' में 38 हज़ार केस 30 साल से अधिक पुराने हैं। वंही भारत की कुल 24 हाई कोर्ट में क़रीब 49 लाख केस पेंडिंग हैं। 2.44 लाख पेंडिंग केस के साथ कलकत्ता हाई कोर्ट सबसे ऊपर। 

Indias Oldest Case Pending
कलकत्ता हाई कोर्ट की पुरानी तस्वीर.

सरकार की तरफ से किए गए एक सर्वे की मानें तो यदि इसी गति से केसों का निपटारा होता है तो इन सभी केसों को खत्म होने में 324 साल लग सकते हैं।