मंदिर गेट पर 'सेकेंड हैंड जवानी' पर ठुमके, लड़की का वीडियो हो गया वायरल तो मच गया बबाल!

 | 
dance video viral

मध्य प्रदेश के इंदौर में डांसिंग गर्ल का मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि छतरपुर के एक मंदिर में बॉलीवुड गानों पर डांस का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद इसके विरोध में बजरंग दल उतर आया है। बजरंग दल का कहना है कि हिंदू संस्कृति को बदनाम करने वाले लोगों को समाज में रहने का अधिकार नहीं है। 

क्या है पूरा मामला?

mandir dance video

यह वीडियो छतरपुर के जनराय टोरिया मंदिर का बताया जा रहा है। युवती भी यहीं की रहने वाली है और उसका नाम आरती साहू है। वीडियो में सेकेंड हैंड जवानी गाना बज रहा है, जिस पर युवती मंदिर के गेट पर डांस करती हुई दिख रही है। 

वीडियो छतरपुर के जनराय टोरिया मंदिर का बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, वह इन वीडियो को अपने इंस्टाग्राम पर यूट्यूब पर अपलोड करती है। उसके करीब 25 लाख फॉलोवर हैं। वीडियो सामने आने के बाद अब इसका विरोध भी शुरू हो गया है।


हिंदूवादी संगठनों ने इसे अश्लील डांस करार देते हुए पुलिस से एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। वहीं मंदिर के महंत ने कहा है कि युवती के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसी हरकतें कर मंदिर, मठ और आश्रमों को बदनाम न करें। वहीं युवती का कहना है कि यह वीडियोज ही उसकी कमाई का एकमात्र जरिया हैं। 

भड़काऊ अंदाज में डांस कर रही युवती

दरअसल, छतरपुर में आरती साहू नाम की वीडियो क्रिएटर ने मंदिर के गेट पर एक शॉर्ट वीडियो बनाया है। वीडियो को जनराय टोरिया मंदिर परिसर में शूट किया गया है। यह युवती फिल्मी गाने पर बेहद भड़काऊ अंदाज में डांस करती नजर आ रही है। 

dance viral video

वहीं पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद जो तथ्य सामने आएंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। इसको लेकर छतरपुर पुलिस के डीएसपी शशांक जैन का कहना है कि बजरंग दल ने पुलिस से शिकायत की है। इसकी जांच की जा रही है। बताया जाता है कि युवती इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर सक्रिय है और उसके 25 लाख फॉलोवर्स हैं।

कहा जा रहा है कि चंद रुपयों और फेमस होने के लिए यह हरकत की गई है। वहीं, आरती ने फोन पर बातचीत में कहा कि उनके डांस में फूहड़ता नहीं है। वे पूरी सभ्यता से फुल ड्रेस में थी और जो कुछ किया उसमें कुछ भी अश्लील नहीं है।

आरती के खिलाफ कार्रवाई की मांग

dance viral video

जनराय टोरिया मंदिर के महंत भगवानदास का कहना है कि उन्हें मंदिर के गेट पर डांस की जानकारी नहीं है, क्योंकि वे सागर स्थित मंदिर में थे। यह वीडियो कब बना ये नहीं पता, लेकिन वीडियो बना तो यह गलत है। मैं इसका विरोध करता हूं।