बैंक गलती से खाते में आए 5.5 लाख, तो बोला शख्स, 'काहे लौटाऊं... मोदी जी ने भिजवाया है'

 | 
Bihar Khagaria News

अगर आपके खाते में अचानक ही कहीं से साढ़े पांच लाख रुपये आ जाएं तो सोचिये आपका क्या हाल होगा? ऐसा ही एक  गजब मामला बिहार के खगड़िया जिले से  सामने आया है। दरअसल एक ग्रामीण बैंक की गलती के कारण यहां के एक व्यक्ति के खाते में 5.5 लाख रुपये आ गए हैं। जिस शख्स के खाते में यह पैसा आया है उसने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 15 लाख के वादे की पहली किस्त के तौर पर उसे भेजा गया है। इसके बाद उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा, और उसने खुशी में सारे रुपए खर्च कर दिए। 

क्या है पूरा मामला?

Bihar Khagariya News

खगडिया जिले के बख्तियारपुर के रहने वाले रंजीत दास नाम के एक शख्स के खाते में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक, मानसी की गलती से 5.5 लाख रुपये अचानक आ गये। बैंक को जब इसके बारे में जानकारी हुई तो उसने चेक किया कि आखिर यह पैसे कहां गया? जांच में रंजीत का नाम आया तो बैंक ने रकम लौटाने के लिए रंजीत को कई नोटिस भेजा, लेकिन उसने यह कहते हुए रकम वापस करने से इनकार कर दिया कि ये पैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भिजवाया है, और बह सारे पैसे खर्च कर चूका है। 

रंजीत दास ने कहा:-

"जब मुझे इस साल मार्च में पैसा मिला तो मैं बहुत खुश था। मुझे लगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करने का वादा किया था, जिसकी यह पहली किस्त हो सकती है। मैंने सारा पैसा खर्च कर दिया। अब मेरे बैंक खाते में पैसे नहीं हैं।”

इस मामले में मानसी के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने कहा कि बैंक के मैनेजर की शिकायत पर हमने रंजीत दास को गिरफ्तार कर लिया है, आगे की जांच जारी है। बहरहाल, इस मामले में हकीकत क्या है अभी इसकी जांच की जा रही है। लेकिन आरोपी से पूछताछ में जो मामले सामने आये उसके मुताबिक यह पूरा वाकया इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।