नौकरी नहीं मिली तो टपरी पर लगाने लगी चाय ठेला, दुकान के बाहर लिखा- पीना ही पड़ेगा

 | 
chaiwaali priyanka gupta

युवाओं के लिए नौकरी मिलना कितना मुश्किल होता जा रहा है, ये बात किसी से छुपी नहीं है। जिधर देखिए उधर युवाओं को बेरोजगारी की मार झेलनी पड़ रही है। लेकिन बहुत से ऐसे युवा भी हैं, जो निराश नहीं होते बल्कि इन कठिन परिस्थितयो  में भी कुछ नया करने की सोच रखते हैं और करते भी हैं। ऐसी ही बिहार की एक लड़की है प्रियंका गुप्ता। 

प्रियंका गुप्ता ने इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन पूरा किया और फिर नौकरी की तलाश में जुट गई। जब दो साल तक कोई नौकरी नहीं मिली तो उसने चाय की दुकान खोलने का फैसला किया। प्रियंका ने पटना में महिला कॉलेज (Women's College) के सामने ही अपनी चाय की दुकान खोल ली। जिसके बाद उनसे जुडी खबरे वायरल हो गई, और देखते ही देखते बह सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लग गई। तो आइये जानते है प्रियंका की कहानी। 

ग्रेजुएट लड़की ने टपरी पर खोली चाय की दुकान!

चाय को लेकर वीडियो और शायरी खूब वायरल होती रहती हैं, लेकिन आजकी कहानी थोड़ा अलग है। बिहार के पूर्णिया जिले की मूल निवासी प्रियंका गुप्ता ने वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन किया। जिसके बाद बह निकल पड़ी नौकरी खोजने, लेकिन मिली नहीं। हार थक कर प्रियंका को आईडिया आया कि चायबाला हो सकता है तो चायबाली क्यों नहीं?

chaiwaali priyanka gupta
Image Source: ANI

बस फिर क्या था, इस साल 11 अप्रैल को प्रियंका पहुँच गई पटना के महिला कॉलेज के बाहर, और कॉलेज के बाहर ही उन्होंने टपरी पर ही खोल दी चाय की दुकान। इस बाबत प्रियंका का कहना है कि पिछले 2 वर्षों में नौकरी नहीं मिल पाई। मैंने प्रफुल्ल बिल्लोर से प्रेरणा ली।' उन्होंने यह भी कहा, 'देश में कई चायवाले हैं, चायवाली क्यों नहीं हो सकती?'

chaiwali priyanka gupta
Image Source: TOI

अर्थशास्त्र में ग्रेजुएट होने के बाद भी प्रियंका को चाय का ठेला लगाने में किसी तरह की कोई झिझक नहीं हुई। प्रियंका का मानना है कि उनका यह फैसला भारत क आत्मनिर्भर बनाने में एक योगदान है।

आत्मानिर्भर भारत की दिशा में एक कदम!

प्रियंका ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'पिछले दो वर्षों से, मैं बैंक प्रतियोगी परीक्षाओं को पास करने के लिए लगातार प्रयास कर रही हूं, लेकिन पूरा समय व्यर्थ गया। इसलिए, घर वापस जाने के बजाय, मैंने पटना में एक ठेले पर चाय की दुकान लगाने का फैसला किया। 


मुझे इसमें कोई संकोच नहीं है। शहर में अपनी खुद की चाय की दुकान खोली और मैं इस व्यवसाय को आत्मानिर्भर भारत की दिशा में एक कदम के रूप में देखती हूं।'

दुकान के लिए लिखी जबरदस्त पंच लाइन!

प्रियंका की इस चाय की दुकान पर आपको चाय की कई वैरियाटी मिल जाएगी। जैसे कि कुल्हड़ चाय, मसाला चाया, पान चाय और चॉकलेट चाय पीने को मिल जाएगी। प्रियंका की इस दुकान पर सभी तरह की चाय की कीमत केवल 15 से 20 रुपये है। प्रियंका के प्रमुख ग्राहक स्टूडेंट्स ही हैं। 

chaiwali priyanka gupta
Image Credit/Source: ANI

वहीं ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए प्रियंका ने एक पंचलाइन रखी है 'पीना ही पड़ेगा' और 'सोच मत ... चालू कर दे बस'।

MBA चायवाला से इम्प्रेस हुई प्रियंका!

mba chaiwala
Image Credit/Source: MBA Chaiwala

चाय बेचना अब कोई छोटा काम नहीं रह गया, बल्कि ये अच्छा खासा स्टार्टअप बन चुका है। MBA चाय बाले को ही देख लो। जिसने MBA छोड़ चाय की दुकान खोली और आज लाखो कमा रहा है। इसी कड़ी में प्रियंका को भी देखा जा सकता है, और प्रियंका MBA चाय बाले के बिजनेस आईडिया से इम्प्रेस भी है। लेकिन यंहा जरूरत से ज्यादा मज़बूरी भी दिखती है। क्यूंकि अगर प्रियंका को नौकरी मिल जाती तो सायद उसे चाय नहीं बेचना पड़ता। 

सोशल मीडिया पर हुईं वायरल!

priyanka gupta chaiwaali
Image Credit/Source: TOI

'ग्रेजुएट चाय वाला' की प्रियंका गुप्‍ता इंटरनेट पर कम वक्‍त में छा गई हैं। केवल सात दिनों में ही उनकी दुकान चल निकली है।  मजे की बात है क‍ि जब उन्‍होंने यह दुकान खोलने का इरादा क‍िया तो उनके पास कोई पूंजी भी नहीं थी। वंही आज उनके पास अच्छा खासा पैसा और दुकान विस्तार के लिए आईडिया दोनों है।