परिवार का खर्च चले इसलिए कभी बेचते थे चाय-पकौड़े, अब मेहनत के दम पर IPS अफसर बन गए!

 | 
ips altaf shekh

'मुट्ठी उसकी खाली हर बार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती' ये लाइने शायद अल्ताफ शेख के लिए ही बनाई गईं हैं। क्योंकि उन्होंने अपनी मेहनत से वो कर दिखाया है, जो लोग कभी सोच नहीं सकते हैं। जो पहले भजिया और चाय बेचकर गुजारा किया करते थे। और आज IPS अफसर है। 

दरअसल, अल्ताफ शेख का यूपीएससी में चयन हो गया है और वे एक आईपीएस बन गए हैं। लेकिन यहां तक पहुंचने का रास्ता कठिनाइयों भरा रहा है। तो ऐसे में किन मुश्किल परिस्थितयो से निकल कर अल्ताफ ने यह कामयाबी हासिल की? तो आइये जानते है उनकी यह संघर्ष कहानी। 

चाय-पकौड़े बेचने से IPS बनने तक का सफर!

पुणे में एक जगह है बारामती. यहां के काटेवाड़ी में रहने वाले अल्ताफ शेख ने जिस तरह से UPSC में सफलता हासिल की वो युवाओं के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं है। जिन्होंने, ग्रामीण इलाके से निकलकर संघर्ष करके बेहद कठिनाईयों में सफलता हासिल की। आपको बता दे, अल्ताफ का जन्म एक बेहद गरीब परिवार में हुआ। 

altaf shekh
Image Source: aajtak

घर की आर्थिक स्थिति ऐसी थी कि स्कूल के बाद अल्ताफ को अपने पिता के साथ चाय और पकौड़े बेचने पड़ते थे। जैसे-तैसे अल्ताफ स्कूल गए और अपनी प्रतिभा के दम पर इस्लामपुर के नवोदय विद्यालय (सरकारी अवासीय विद्यालय, जिसमें 6-12 तक की पढ़ाई मुक्त में दी जाती है) में प्रवेश पाने में सफल रहे। 

ips altaf shekh
Image Source: Twitter/supriya_sule

बाद में उन्होंने फूड टेक्नोलॉजी में बी.टेक किया, और फिर UPSC की तैयारी में जुट गए। इसाल 2015 में अल्ताफ ने UPSC की परीक्षा पास की थी, तब उनकी उम्र 22 साल थी। उन्होंने केंद्रीय गृह विभाग में डिप्टी एसपी के तौर पर जॉइन किया था। शुरुआत में शेख उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में तैनात थे। इसके बाद फरवरी में उनका तबादला उस्मानाबाद कर दिया गया। 

नौकरी के दौरान फिर बने IPS अफसर 

नौकरी करने के दौरान उनका एक बार फिर से IPS के लिए चयन हो गया है। अपनी इस सफलता श्रेय अल्ताफ शेख ने डिप्टी CM अजित पवार को भी दिया है। बता दें कि उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और सुनेत्रा पवार की पहल पर ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद करने के उद्देश्य से बारामती में राष्ट्रवादी करियर अकादमी की शुरुआत की गई थी। 

altaf shekh
Image Source: Bhaskar

जंहा,  विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया है। इसी अकादमी से पढ़े अल्ताफ शेख आज IPS बन गए हैं। आपको बता दे, इस अकादमी से अब तक 47 राजपत्रित अधिकारी बन चुके हैं और बड़ी संख्या में युवक-युवतियां सरकारी नौकरियों में देश सेवा कर रहे हैं।  


शेख की सफलता के लिए बारामती समेत पूरे पुणे में उनकी तारीफ हो रही है। NCP नेता और सांसद सुप्रिया सुले ने शेख को सोशल मीडिया में बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की थी।