दफनाएं नहीं जलाकर करें मेरा अंतिम संस्कार, वसीम र‍िजवी ने वसीयत में लिखी ये बाते

 | 
wasim rizvi

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य वसीम रिजवी एकबार फिर से सुर्खियों में हैं। इसबार उनके खबरों में आने की वजह है उनकी वसीयत। दरअसल, वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने इच्छा जताई है कि मृत्यु के बाद उनके शरीर का अंतिम संस्कार हिंदू रीति-रिवाजों के साथ किया जाए। इसके साथ ही रिजवी ने हत्या की साजिश का आरोप भी लगाया है।

wasim rizvi

रिजवी ने अपनी वसीयत में लिखा है कि उनके मरने के बाद उन्हें मुस्लिम कब्रिस्तान में दफन करने के बाद हिंदू श्मशान घाट पर जलाया जाए। र‍िजवी ने अपनी वसीयत में डासना मंद‍िर के महंत नरस‍िम्‍हा नंद सरस्‍वती को मुखाग्‍न‍ि देने का अध‍िकार द‍िया है। 

वसीम रिजवी ने वीडियो जारी कर कहा, "हिंदुस्तान और हिंदुस्तान के बाहर उनकी हत्या करने की साजिश रची जा रही है। मेरी गर्दन काटने की साजिश रची जा रही है, इनाम रखे जा रहे हैं क्योंकि मेरा गुनाह इतना है कि मैंने 26 आयतों को सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज किया था जो इंसानियत के प्रति नफरत फैलाती हैं।"

wasim rizvi
image Source: Zee News

'मेरे मरने के बाद शांति बनी रहे, इसलिए मैंने एक वसीयतनामा लिखा है कि जो  उनकी मौत के बाद उनका शरीर, लखनऊ में रहने वाले हिंदू दोस्तों को सौंप दिया जाए और चिता बनाकर अंतिम संस्कार कर दिया जाए।  उनके इस बयान से जुड़ा वीडियो वायरल हो रहा है।