काबुल हमले पर अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने क्या बड़ा ऐलान कर दिया?

 | 
Joe Biden

काबुल एयरपोर्ट पर एक के बाद एक धमाकों में कई लोगो की मौत हो गई। वंही इस हमले के बाद व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ इजराइल के नए प्रधानमंत्री की पहली बैठक का कार्यक्रम टाल दिया और अफगान शरणार्थियों के विषय पर गवर्नरों के साथ होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया। इसके बाद काबुल में एयरपोर्ट पर आईएसआईएस द्वारा किए गए आत्मघाती हमलों के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बड़ा बयान दिया।

उन्होंने कहा है कि:-

'हम हमलावरों को माफ नहीं करेंगे। हम नहीं भूलेंगे। हम आपका शिकार करेंगे और आपको इसकी कीमत चुकानी होगी। हम अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को बचाएंगे। हम अपने अफगान सहयोगियों को बाहर निकालेंगे और हमारा मिशन जारी रहेगा।'

आपको बता दे, काबुल एयरपोर्ट पर हमले में 13 अमेरिकियों की भी मौत हुई है और करीब 18 घायल हुए हैं। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, मरने वालों में 12 अमेरिकी कमांडो हैं। बताया जा रहा है कि पिछले कई साल में काबुल में अमेरिकियों को हुआ ये सबसे बड़ा नुकसान है। 


अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने पहले ही काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले की आशंका जाहिर की थी। साथ ही, अपने नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट से दूर रहने की चेतावनी दी थी। वहीं, ब्रिटेन ने इस घटना को लेकर एक आपातकालीन बैठक बुलाई। दूसरी ओर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने भी एलान किया है कि वहां के राजदूत अब अफगानिस्तान छोड़ देंगे।


इन बम धमाकों के पीछे आतंकी संगठन आईएस (इस्लामिक स्टेट) का हाथ होने की बात सामने आ रही थी और देर रात उसने इसकी जिम्मेदारी भी ले ली। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने पहले ही काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले की आशंका जाहिर की थी। साथ ही, अपने नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट से दूर रहने की चेतावनी दी थी।

भारत ने की हमले की निंदा

काबुल एयरपोर्ट पर हमले पर तमाम देशों ने प्रतिक्रिया दी है। भारत ने भी इस हमले की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह हरकत दिखाती है कि आतंकवाद और उन्हें शह देने वालों से मुकाबले के लिए पूरी दुनिया को एकजुट होकर कदम उठाने होंगे।