‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’

आम तौर देखा गया है कि अगर किसी को तंख्वाह इत्यादि को लेकर कुछ खास दिक्कतें आने पर लोग लेबर कोर्ट का रुख करते हैं। लेकिन मान लीजिए कोई निजी या सरकारी कर्मचारी अपने ग्रैच्युटी निकलवाने के लिए श्राप देने की धमकी देने लगे तो आप क्या कहेंगे? आइये आपको एक ऐसा ही हंसी दिलाने
 | 
‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’

आम तौर देखा गया है कि अगर किसी को तंख्वाह इत्यादि को लेकर कुछ खास दिक्कतें आने पर लोग लेबर कोर्ट का रुख करते हैं। लेकिन मान लीजिए कोई निजी या सरकारी कर्मचारी अपने ग्रैच्युटी निकलवाने के लिए श्राप देने की धमकी देने लगे तो आप क्या कहेंगे? आइये आपको एक ऐसा ही हंसी दिलाने बाले ड्रामे से मिलवाते है।

”मैं विष्णु का कल्कि अवतार”

‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’
Image Source: ANI

इन दिनों गुजरात में सरकारी नौकरी से मुक्त कर दिए गए एक कर्मचारी का ड्रामा आमजन की भावनाएं भड़काने वाला है। दरअसल गुजरात में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां खुद के भगवान विष्णु का अंतिम अवतार ‘कल्कि’ होने का दावा करने वाले गुजरात सरकार के एक पूर्व कर्मचारी रमेशचंद्र फेफर ने मांग की है कि उनकी ग्रैच्युटी जल्द से जल्द जारी की जाए वरना वह अपनी ‘‘दिव्य शक्तियों” का इस्तेमाल करके इस साल दुनिया में गंभीर सूखा ला देंगे।

इतना ही नहीं, वो यह भी कहता है कि, सरकार में राक्षस बैठे हैं और वे मुझे परेशान कर रहे हैं। मेरी बात मानें…वरना अपनी दिव्य ​शक्तियों का उपयोग करके मैं सूखा ला दूंगा। चूंकि बारिश लाने का काम मैं करता हूं।”

‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’
Image Source: Dainik Bhaskar

बीते 1 जुलाई को रमेशचंद्र फेफर ने जल संसाधन विभाग के सचिव के नाम एक पत्र भेजा, जिसमें लिखा, “सरकार में बैठे राक्षस मेरे 16 लाख रुपए नहीं दे रहे और ग्रेच्युटी रोककर मुझे परेशान कर रहे हैं।”

‘मुझे परेशान कर रहे सरकार में बैठे राक्षस’

पत्र में उसने यह भी लिखा:-

‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’

“भारत में एक साल तक सूखा नहीं पड़ी और पिछले बीस सालों में अच्छी वर्षा के कारण देश को 20 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ। इसके बावजूद मुझे मेरा हक नहीं दिया जा रहा। ये सरकार में बैठे राक्षस मुझे परेशान कर रहे हैं। तो मैं इस साल दुनियाभर में भयंकर सूखा लाने जा रहा हूं।” उसने कहा, मैं भगवान विष्णु का 10वां अवतार हूं और सतयुग में पृथ्वी पर शासन कर चुका हूं।”

पूर्व सरकारी कर्मचारी का ड्रामा

इस मामले पर गुजरात में जल संसाधन विभाग के सचिव एम.के. जाधव कहते हैं, ”रमेशचंद्र फेफर का मानसिक रूप से ठीक नहीं है। फेफर राज्य के जल संसाधन विभाग के सरदार सरोवर पुनर्वास एजेंसी में अधीक्षण अभियंता के तौर पर वडोदरा कार्यालय में पदस्थ थे। आठ महीने में महज 16 दिन कार्यालय आने के लिए उन्हें 2018 में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था।

‘‘फेफर कार्यालय आए बगैर वेतन की मांग कर रहे हैं। वह कह रहे हैं कि उन्हें सिर्फ इसलिए वेतन दिया जाना चाहिए कि वह ‘कल्कि’ अवतार हैं और धरती पर वर्षा लाने के लिए काम कर रहे हैं।”

‘मैं हूँ कल्कि अवतार’ कर्मचारी की धमकी- मुझे ग्रेच्युटी दो’, वरना सूखा ला दूंगा’
Image Source: ANI

जाधव ने कहा, ‘‘वह मूर्खता कर रहे हैं। मुझे उनका पत्र मिला है जिसमें उन्होंने ग्रैच्युटी और एक वर्ष वेतन का दावा किया है। उनकी ग्रैच्युटी का मामला प्रक्रिया में है। पिछली बार जब उन्होंने दावा किया (कल्कि अवतार का) तो उनके खिलाफ जांच शुरू की गई। उनकी मानसिक स्थिति को देखते हुए सरकार ने उन्हें समय से पहले सेवानिवृत्ति दे दी।”