ये कौनसी मानसिकता के लोग है, जो बार-बार लाहौर में महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़ देते हैं?

 | 
Maharaja Ranjeet Singh

पाकिस्तान में भारत के गौरवशाली अतीत से जुड़े प्रतीकों से जारी नफरतों का सिलसिला खत्म नहीं हो रहा है। पंजाब के पूर्व शासक महाराज रणजीत सिंह की पाकिस्तान के लाहौर किले में लगी मूर्ति फिर तोड़ दी गई, और इस घटना को अंजाम दिया तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान से जुड़े एक शख्स ने। 

Mahraja Ranjeet Singh Murti
Image Source: Social Media

इस मामले में पुलिस ने एक शख्स को हिरासम में लिया है। पुलिस का कहना है कि हमलावरों का मानना है कि उनके देश में सिख सम्राट की मूर्ति खड़ी करना धर्म के खिलाफ है।  सोशल मीडिया पर मूर्ति तोड़ने की वारदात वायरल हो गई है। वीडियो में पाकिस्तानी कट्टरपंथी शख्स महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति ध्वस्त करते नजर आ रहा है। 

मूर्ति तोड़ने का वीडियो यंहा देखे:-

वायरल वीडियो में आप देख सकते है कि शख्स ने रणजीत सिंह की 9 फीट ऊंची ब्रॉन्ज की मूर्ति पर अपने हाथों से वार किया और मूर्ति की बांह समेत दूसरे हिस्सों को तोड़ डाला। मूर्ति तोड़ते हुए यह शख्स रणजीत सिंह के विरोध में नारे भी लगाता रहा। किले में मौजूद लोगों ने इस घटना को अपने कैमरे में रिकॉर्ड किया। इससे पहले भी यह मूर्ति दो बार तोड़ी जा चुकी है।


आपको बता दे, जून 2019 में महाराजा रणजीत सिंह की 180वीं पुण्यतिथि पर इस मूर्ति का अनावरण किया गया था। रणजीत सिंह सिख साम्राज्य के पहले शासक थे, जिन्होंने पंजाब पर 40 साल तक राज किया। 1839 में उनकी मृत्यु हो गई। इस मूर्ति निर्माण के लिए ब्रिटेन के सिख हेरिटेज फाउंडेशन ने फंड दिया था जिसके बाद इसका निर्माण कराया गया था। 

Mahraja Ranjeet singh
Image Source: Social Media

आपको बता दे, रणजीत सिंह को जिस घोड़े पर बैठा हुआ दिखाया गया है उसका नाम कहार-बहार था, महाराजा का यह सबसे पसंदीदा घोडा हुआ करता था। इस घोड़े को उनके दोस्त मुहम्मद खान ने तोहफे में दिया था। इस मूर्ति के निर्माण की बात की जाय तो इसे बनाने में तकरीबन 8 महीने का समय लगा था।

भारत सरकार ने जताई आपत्ति 


इस घटना पर विदेश मंत्रालय ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। मंत्रालय ने इस घटना पर नाराजगी जताई है। मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मंगलवार को इस सिलसिले में बात करते हुए कहा कि यह तीसरी बार है जब प्रतिमा को तोड़ा गया है, जिसका साल 2019 में अनावरण किया गया था।

mahraja ranjeet singh murti

समाचार एजेंसी प्रेट्र के मुताबिक, पुलिस ने इस मामले में रिजवान नाम के आरोपित शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। पाकिस्तान के सूचना प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने घटना पर नाराजगी जाहिर की है। फवाद चौधरी ने घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अनपढ़ों का यह झुंड दुनिया में पाकिस्तान की छवि के लिए वाकई खतरनाक है।