'ये टिकट संभाल कर रखिये योगी जी, बापसी में काम आएगी' सपा नेता ने बुक कराया सीएम का टिकट!

 | 
ip singh

यूपी में चुनाव है, और चुनावी खुमार नेताओ के सर किस कदर चढ़कर बोल रहा है, इसकी बानगी देखनी है तो सपा के इस नेता को देखिये। जिन्होंने अपनी पार्टी की जीत का ना सिर्फ दावा किया बल्कि मौजूद सीएम से कह दिया- 'अपना बोरिया विस्तरा बाँध लीजिये, टिकट कटा दिए है गोरखपुर का!' अब क्या है ये पूरा माजरा? आइये हम आपको समझाते है। 

सपा नेता ने सीएम योगी की फ्लाइट टिकट बुक कराई!

यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही प्रदेश में राजनीति भी गर्मा गई है। सियासी दल बयानबाजी का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। कभी भाजपा प्रवक्ता रहे और समाजवादी पार्टी का दामन थामने वाले आईपी सिंह ने सबसे पहला हमला सीएम योगी आदित्यनाथ पर किया है।


सपा प्रवक्ता आईपी सिंह ने उत्तर प्रदेश चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फ्लाइट की टिकट बुक करा दी है। सपा प्रवक्ता आईपी सिंह ने योगी आदित्यनाथ की चुनाव परिणाम (10 मार्च, 2022) के अगले दिन यानी 11 मार्च की शाम 5 बजकर 5 मिनट की लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट से गोरखपुर एयरपोर्ट की फ्लाइट की टिकट बुक करा दी है।

आईपी सिंह ने की फोटो शेयर करते हुए लिखा है कि:-

'10 मार्च जनता का दिन होगा, 10 मार्च प्रदेश में सच्चाई का सूरज निकलेगा और सपा प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। इसलिए मैंने @myogiadityanath जी के लिए लखनऊ से गोरखपुर का 11 मार्च का रिटर्न टिकट बुक कर दिया है। यह टिकट संभाल कर रखिए, क्यू कि BJP भी नहीं पूछेगी आपको हार के बाद।'

जानिये यूपी का चुनावी रंग!

यूपी में चुनावी रण का संखनाद हो चुका है, ऐसे में हर पार्टी अब अपने अपने तरकस छोड़ एक दूसरे पर निशाना साधते हुए दिख जाएगी। जंहा एक तरफ सत्ता धारी पार्टी हिन्दू वोट बैंक के साथ राम मंदिर, कशी कॉरिडोर के साथ सबका विकास नारा लिए चल रही है। तो वंही मुख्य विपक्षी पार्टी सपा इस डबल इंजन सरकार पर आरोप लगाए जा रही है। 

सपा ने इस बार, लखीमपुर कांड, महिला उत्पीड़न को मुख्य मुद्दा बनाया हुआ है तो वंही सपा के कार्यकाल में हुए विकाश की दुहाई भी पार्टी देती फिर रही है। सपा और भाजपा इस बक्त दो बड़ी पार्टियां चुनावी मैदान में दमखम के साथ मौजूद है, तो वंही कांग्रेस 'लड़की हूँ, लड़ सकती हूँ' नारे को बुलंद कर जनता से वोट मांगती दिख रही है। 

कांग्रेस का कोर कमान फोकस इस बार महिला वोट बैंक है, जिन्होंने पिछली सरकार यानी योगी सरकार बनबाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। तो वंही इस बार कांग्रेस का मुख्य निशाना यही महिला वोट बैंक है तभी तो कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गाँधी लगातार यूपी में महिला विरोधी मुद्दों को राष्ट्रीय मुद्दा बनाकर सरकार को घेरती दिखी। 

इस सभी के बीच चुनाव आयोग ने अपना काम करते हुए चुनावी घोसना कर दी है। अब देखना दिलचस्प होगा, कि 10 मार्च को किसकी चाल कामयाब होती है और इस चुनावी रण में बाजी मार सत्ता की कुर्शी तक पहुँचता है।