'गज्जू...ओए उठा जा... मैंनू देख ले...' दिल चीर रही शहीद की पत्नी की चीखे, महज 8 माह पहले हुई थी शादी!

 | 
Shaheed gajjan Singh

'गज्जू.... गज्जन सिंह... ओए उठा जा... मैंनू देख ले...' शहीद हुए गज्जन सिंह का पार्थिव शरीर देख उनकी पत्नी हरप्रीत कौर के ये शब्द झकझोर कर रख देने वाले हैं। इसी साल फरवरी में 23 सिख रेजिमेंट के जवान गज्‍जन सिंह ने हरप्रीत कौर का ताउम्र साथ निभाने की कसम खाई थी। हरप्रीत कौर के हाथ से अभी चूड़ा भी नहीं उतरा था और उनका सुहाग उनसे बिछड़ गया।

रोपड़ में बड़ी धूमधाम से दोनों की शादी हुई थी। हरप्रीत के हाथों का चूड़ा भी अभी नहीं उतरा था कि उसकी मांग सूनी हो गई। पथराई आंखों से पति के पार्थिव शरीर को निहारते हुए हरप्रीत बार-बार बस यही कह रही थी- 'ओए उठ जा... मैंनू तो देख ले एक वारी...' हरप्रीत बार-बार गज्जन सिंह के चेहरे पर हाथ फेरती रहीं, इस उम्मीद में कि शायद एक बार तो वह अपनी आंख खोल लेते। 

5 जवान हुए थे शहीद 

Shaheed gajjan Singh
Image Source: Video ScreenShot

शहीद हुए इन पांचों जवानों और उनके परिवारों की कहानियां आंखें नम करने वाली हैं. लांस नायक गज्जन स‍िंह की महज आठ महीने पहले ही शादी हुी थी। सोमवार को पुंछ जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (JCO) के अलावा 4 अन्य जवान शहीद हुए थे। इनमें गज्जन सिंह के साथ जसविंदर सिंह, मनदीप सिंह, सरज सिंह और वैशाख एच शामिल थे।

दिल चीर रही शहीद की पत्नी की चीखे 

गज्जन सिंह पंजाब के रुपनगर में परचंदा गांव के रहने वाले थे। गज्‍जन सिंह सेना की 23 सिख रेजिमेंट में तैनात थे। अभी 4 महीने पहले ही तो उनकी शादी हुई थी। अब पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल हुए जा रहा है। बुधवार को शहीद गज्‍जन सिंह को अंतिम विदाई दी गई, तो परिवार के साथ-साथ गांव बाले भी रो पड़े। 

चारो तरफ अपने बहादुर शेर की एक झलक देखने को लोग बेताब दिखे, शहीद की पत्नी की हालत रो-रो कर बेसुध सी हो गई। वंही पिता चरण सिंह के आंसू रुकने का नाम नहीं ले पा रहे थे। 

घर के बड़े बुजुर्ग होने के नाते उन पर जिम्मेदारियां लेकिन बेटे का शव देख उनके आंसू नहीं रुके, तो हालत समझी जा सकती है। गला रुंधा हुआ था, बस किसी तरह अंतिम संस्‍कार की प्रक्रिया निभा रहे थे। मां पहले से बीमार हैं, इसलिए बेटे ही शहादत की खबर उनसे छिपा ली गई। 

सैनिक सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई 

Shaheed jawan gajjan singh
Image Source: Video ScreenShot

जम्मू कश्मीर में 5 जवान शहीद हुए जिनमे गज्जन सिंह भी शामिल थे। जब बुधवार उनका पार्थिव शरीर सेना के जवान उनके पैतृक गांव लेकर पहुंचे तो पूरा गांव अपने वीर जवान के दर्शनों के लिए उमड़ पड़ा। आस-पास के गांव के लोग भी श्रधांजलि देने आ पहुंचे। पार्थिव शरीर देख जंहा परिवार रो पड़ा, तो वंही गांव बालो के भी आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे। 

समय के साथ सैनिक सम्मान के साथ शहीद जवान गज्जन सिंह की अंतिम यात्रा निकली तब हर आँख नम नजर आई। पिता, पत्नी मित्र और बाकी पारिवारिक जन दहाड़े मार रो पड़े। सैनिक सम्मान के साथ शहीद जवान गज्जन सिंह को अंतिम विदाई दी गई।