साड़ी पहनकर आई महिला को नहीं दी थी एंट्री, अब लगा गया ताला हुआ बंद!

 | 
Aquila restorent

साड़ी में प्रवेश की मनाही से विवादों में आया दक्षिणी दिल्ली अकीला रेस्तरां बंद हो गया है। नगर निकाय ने पहले इसे नोटिस जारी किया था। इसके बाद यह कार्रवाई की गई। यह वही रेस्‍तरां है जहां पिछले हफ्ते साड़ी पहनकर आई एक महिला को एंट्री नहीं दी गई थी। 

विवादों में आने के बाद दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) की जांच में अकीला रेस्तरां (Aquila restaurant ) को बिना लाइसेंस के पाया गया। इसके बाद एसडीएमसी की ओर से दिए गए क्लोजर नोटिस के बाद अकीला रेस्तरां प्रबंधन बंद करने हलफनामा निगम को देकर बंद कर दिया है। 

Aquila restorent sari vivad

दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के महापौर मुकेश सूर्यन ने इसकी पुष्टि की है कि रेस्तरां बंद हो गया है। सूर्यन ने बताया:-

'अकीला नाम का यह रेस्तरां बिना वैध लाइसेंस के चल रहा था। उसे हमने बंद किए जाने का नोटिस जारी किया था। इसके बाद अब वह बंद हो गया है। यह रेस्तरां निकाय से मंजूरी लिए बिना चल रहा था। लिहाजा, हम डीएमसी (दिल्ली नगर निगम) अधिनियम के तहत जुर्माना लगाने के प्रावधान समेत अन्य कार्रवाई की संभावना को भी तलाश रहे हैं।'

वंही रेस्तरां की ओर से कहा कि वह बिना लाइसेंस के इन रेस्टोरेंट को चला रहे थे इसके बाद उसने प्रतिष्ठान बंद कर दिया है। हालांकि इसके लिए जरुरी हेल्थ लाइसेंस के लिए आवेदन कर दिया है। जिस पर रेस्तरां के संचालक कुणाल छाबरा ने बिना लाइसेंस के चलने वाले रेस्तरां को बंद करने का हलफनामा दे दिया। हलफनामे में बताया गया कि निगम के नोटिस के बाद वह इसे बंद कर रहे हैँ।

पिछले हफ्ते हुआ था विवाद


गौरतलब है कि महिला ने कहा था कि उसे उस रेस्टोरेंट में सिर्फ इसलिए नहीं जाने दिया गया क्योंकि उसने साड़ी पहनी हुई थी।  इस दौरान महिला की  रेस्टोरेंट के कर्मचारियों के साथ नोकझोंक भी हुई थी जिसका वीडियो उसने सोशल मीडिया पर पोस्ट हुआ था। इसमें साड़ी को वजह बताते हुए उन्हें अंदर जाने से मना किया जा रहा है।

aquila restorent

वहीं, रेस्टोरेंट का कहना था कि महिला ने उसके स्टाफ के साथ झगड़ा किया था। उन्हें रेस्टोरेंट के अंदर जाने के लिए इंतजार करने को इसलिए कहा गया था क्योंकि उनके नाम पर रिजर्वेशन नहीं था। रेस्टोरेंट ने अपने बयान में इसे मानते हुए माफी मांगी थी और कहा था कि मैनेजर ने ऐसा इसलिए कहा ताकि महिला वहां से जा सके और स्थिति को संभाला जा सके।