राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा में बड़ी चूक... हरकत में आए कमांडो, सुरक्षा घेरा तोड़कर घुसी कार!

 | 
rastrpati bhavan

भारत के राष्ट्रपति, तीनों सेनाओं के मुखिया, संविधान के रक्षक और देश के प्रथम व्यक्ति कहलाते हैं। उनके निवास यानि राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा में एक बड़ी चूक सामने आई है। राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा बलों के उस वक्त हाथ-पांव फूल गए, जब एक तेज रफ्तार कार सुरक्षा घेरे को तोड़ती हुई अंदर दाखिल हो गई। आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक घटना 15 नवंबर की है। 

राष्ट्रपति भवन में तैनात सुरक्षा कर्मियों को सूचना मिली कि गेट नंबर-35 से एक कार में सवार एक लड़का और लड़की परिसर में घुस रहे हैं। सुरक्षा बल तुरंत अपनी-अपनी पोजिशन में आ गए। वायरलेस पर मेसेज फ्लैश होते ही दिल्ली पुलिस समेत तमाम सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया। सूत्रों की मानें तो सभी को 2001 में संसद भवन पर हुए आतंकी हमले जैसी घटना का अंदेशा लगने लगा।

president house of india

सुरक्षा पर तैनात कमांडो ने बिना देरी किए कार का पीछा कर उसे घेर लिया। कार गेट नंबर-17 से एग्जिट होने के लिए जैसे ही मुड़ी, तभी उसे घेर लिया गया। कार सवार युवक-युवती को सुरक्षाकर्मियों ने घेरे में लेकर पूछताछ सुरु कर दी। पूछताछ के बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।  

सुरक्षा घेरा तोड़कर घुसी कार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लड़का नशे में था। वह दिल्ली के संगम विहार का रहने वाला है, जबकि उसके साथ मौजूद लड़की उसकी दोस्त थी। मामले में कई घंटे तक खुफिया एजेंसियों ने पूछताछ की। जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रपति भवन में ट्रेसपास करने का मुकदमा दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस अफसर के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपियों में 25 वर्षीय युवक साउथ दिल्ली के संगम विहार में परिवार के साथ रहता है। वह एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है। जबकि उसकी गर्लफ्रेंड परिवार के साथ ऋषिकेश की रहने वाली है। पुलिस के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि घटना 15 नवंबर की रात राष्ट्रपति भवन के गेट संख्या 35 की है। 

president house of india
राष्ट्रपति भवन (Image Source: NDTV)

रात में इस गेट पर एक आई-20 कार आकर रुकी और अचानक बैरीकेड को टक्कर मारते हुए अंदर चली गई। हरकत में आए सुरक्षाकर्मियों ने कार का पीछा किया और गेट संख्या-17 के पास कार को रुकवा लिया। आरोपी ने बताया कि वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूमने के लिए गाड़ी से निकला था। 

घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय थाने की पुलिस समेत स्पेशल सेल, खुफिया विभाग, राष्ट्रपति भवन सुरक्षा के अधिकारियों ने युवक-युवती से पूछताछ की। पुलिस ने इनके खिलाफ किसी परिसर में जबरदस्ती घुसने का मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा किसके पास है?

president house
राष्ट्रपति भवन (Image Source: NDTV)

जब भी राष्ट्रपति किसी कार्यक्रम में जाते हैं, तो उनके आसपास कई सारे बॉडीगार्ड मौजूद होते हैं। दरअसल, इस क़ाफ़िले में जो गार्ड होते हैं, उन्हें प्रेसीडेंट्स बॉडीगार्ड्स (पीबीजी) और हिंदी में ‘राष्ट्रपति के अंगरक्षक’ कहा जाता है। पीबीजी में शामिल जवान राष्ट्रपति भवन में स्थायी तौर पर तैनात रहते हैं। 

भवन के अंदर राष्ट्रपति के सबसे नजदीकी सुरक्षा घेरे की जिम्मेदारी इन्हीं के पास रहती है। पीबीजी का हर एक सदस्य ट्रेन्ड लड़ाका, टैंक चलाने वाला फौजी होता है। इनका कमांडिंग ऑफिसर हमेशा ब्रिगेडियर या कर्नल रैंक का अधिकारी होता है।