जिस रेपिस्ट का एनकाउंटर करने की बात मंत्री जी बोले थे, अब उसकी लाश मिली है!

 | 
rape murder case accused dead body found railway track

हैदराबाद के सईदाबाद इलाके में 9 सितंबर को एक छह साल की बच्ची का कथित तौर पर रेप के बाद मर्डर कर दिया गया। बच्ची की लाश एक बंद घर में मिली। इस घिनौने कृत्य का आरोप लगा पल्लाकोंडा राजू पर, जिसकी उम्र 30 साल बताई जा रही है। मामला सामने आने के बाद, पुलिस राजू को गिरफ्तार नहीं कर पाई क्यूंकि बह फरार हो गया। जनता लगातार दबाब दाल रही थी तो पुलिस ने आरोपी पर 10 लाख का इनाम भी घोसित कर दिया।

लेकिन अब बच्ची के रेप और मर्डर मामले के आरोपी पल्लाकोंडा राजू का शव वारंगल में रेलवे ट्रैक पर मिला है। आरोपी को पकड़ने के लिए तेलंगाना पुलिस ने 15 टीमें बनाई थीं। लेकिन इसी बीच आरोपी पल्लाकोंडा राजू का शव 16 सितंबर की सुबह घनपुर रेलवे स्टेशन के पास बरामद हुआ। तेलंगाना के डीजीपी ने इसकी पुष्टि कर दी है, उन्होंने कहा:-

“पल्लाकोंडा राजू के शव की पहचान उसके शरीर पर आइडेंटीफिकेशन मार्क्स से हुई है। उसके हाथ पर एक टैटू है, जो कि शव के हाथ पर भी पाया गया है।  हालांकि, अंतिम पुष्टिकरण DNA और दूसरी वैज्ञानिक जांच के बाद होगा।”

मंत्री ने कही थी एनकाउंटर की बात


आरोपी का शव मिलने के साथ ही हैदराबाद पुलिस और सरकार पर विपक्ष सवाल उठा रहा है, क्योंकि 2 दिन पहले ही राज्य के श्रम मंत्री मल्ला रेड्डी ने कहा था कि हम आरोपी को एनकाउंटर में मार देंगे। मल्ला रेड्डी मंगलवार को मेडचल-मलकाजगिरि जिले में एक इवेंट में शामिल होने पहुंचे थे। वहां उन्होंने कहा था:- 

''रेप करने वाला 30 साल का आरोपी जरूर पकड़ा जाएगा और उसे एनकाउंटर में मार दिया जाएगा। उसको छोड़ने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। बच्ची को न्याय दिलाने के लिए इस मामले का ट्रायल तेजी से होगा। हम पीड़ित के परिवार से मिलेंगे। उनकी मदद करेंगे और मुआवजा भी दिया जाएगा।''

परिवार को 20 लाख रुपये का चेक


आपको बता दे, यह पूरा मामला हैदराबाद के सैदाबाद में रहने वाली 6 साल की बच्चे की रेप और हत्या से जुड़ा है। बच्ची से रेप और उसकी हत्या 9 सितंबर को हुई थी। उसका शव राज के बंद घर में मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई। यह भी पता चला कि बलात्कार के बाद दम घोंटकर बच्ची को मार दिया गया। 

इस पूरे घटनाक्रम के बाद तेलंगाना के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। वो बच्ची के परिवार को न्याय देने की मांग करने लगे। तो पुलिस ने इस आरोपी के बारे में कोई भी जानकारी देने वाले को 10 लाख का इनाम देने का ऐलान कर दिया था। इसी बीच 16 सितंबर की सुबह राज्य के गृह मंत्री महमूद अली और आदिवासी कल्याण मंत्री सत्यवती राठोड़ पीड़िता के परिवार से मिले और उन्हें 20 लाख रुपये का चेक दिया।