क्‍या एनर्जी है! अमेरिका से लौटने पर भी पीएम मोदी को आराम नहीं, सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट देखने अचानक पहुंचे!

 | 
pm narendra modi visit central vista project

अमेरिका से लौटने पर भी पीएम मोदी को आराम नहीं, नए संसद भवन का काम देखने पहुंच गए। जी हां, ये हुआ देर रात जब पीएम मोदी अमेरिका दौरे से लौटे और बिना आराम फरमाए पहुँच गए सेंट्रल विस्‍टा प्रॉजेक्‍ट देखने। करीब एक घंटे तक उन्‍होंने घूम-घूमकर कितना काम हुआ है, क्‍या बचा है, यह सब समझा। 

सुरक्षा हेलमेट के साथ सफेद कुर्ता और चूड़ीदार पायजामा पहने पीएम मोदी चल रहे कार्य का निरीक्षण करते दिखे। आपको बता दे, बिना किसी सूचना के पीएम नरेंद्र मोदी नए संसद भवन की कंस्ट्रक्शन साइट पर पहली बार पहुंचे थे।

क्यों ख़ास है सेंट्रल विस्‍टा प्रॉजेक्‍ट?

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: NDTV

आपको बता दे, नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक के बीच का तीन किमी लंबे एरिया को सेंट्रल विस्टा कहते हैं। सितंबर 2019 में केंद्र सरकार ने इसके री-डेवलपमेंट की योजना बनाई।

मोदी ने पिछले साल उन्होंने नए संसद भवन की आधारशिला रखी थी। सेंट्रल विस्‍टा प्रॉजेक्‍ट के अगले साल तक पूरा होने की संभावना है। सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्‍ट के तहत सिर्फ नई संसद ही नहीं, केंद्र सरकार के कार्यालयों, प्रधानमंत्री कार्यालय और निवास, विशेष सुरक्षा समूह भवन और उपराष्ट्रपति के एन्क्लेव के लिए एक सचिवालय का निर्माण भी होना है।

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: NDTV

मास्टर प्लान के मुताबिक पुराने गोलाकार संसद भवन के सामने गांधीजी की प्रतिमा के पीछे नया तिकोना संसद भवन बनेगा। नया संसद भवन 13 एकड़ जमीन पर बनेगा। इसमें दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के लिए एक-एक इमारत होगी, लेकिन सेंट्रल हॉल नहीं बनेगा।

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: NDTV

हालिया प्रस्ताव के मुताबिक प्रधानमंत्री के नए आवासीय कॉम्प्लेक्स में चार मंजिला 10 इमारतें होंगी। वंही प्रधानमंत्री के नए आवास को 15 एकड़ भूमि पर बनाया जाएगा। 

नए संसद भवन में क्या खास होगा?

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: Dainik Bhaskar

नए संसद भवन के बनने के बाद भी मौजूदा संसद भवन का इस्तेमाल भी जारी रहेगा। इसका उपयोग संसदीय आयोजनों के लिए किया जाएगा। 2026 में लोकसभा सीटों का नए सिरे से परिसीमन का काम शेड्यूल्ड है। सदन में सांसदों की संख्या बढ़ सकती है। बढ़े हुए सांसदों के बैठने के लिए पुरानी बिल्डिंग में पर्याप्त जगह नहीं है।

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: Dainik Bhaskar

मौजूदा संसद की इमारत 100 साल पुरानी है। सुरक्षा संबंधी समस्याएं हैं। आग लगने से बचाव संबंधी सुरक्षा मापदंडों का अभाव है। आपको बता दे, पुराने संसद भवन को 1921 में एडविन लुटियंस और हर्बर्ट बेकर ने बनाया था। उस समय ये इमारत छह साल में बनकर तैयार हुई थी। इसे बनाने में 83 लाख रुपए लगे थे।

क्या बोले थे पीएम मोदी?

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: Dainik Bhaskar

पिछले साल दिसंबर में नई संसद भवन की आधारशिला रखते हुए प्रधान मंत्री ने कहा था कि नया भवन "नए और पुराने के सह-अस्तित्व" का प्रतीक होने के साथ-साथ 21वीं सदी के देश की आकांक्षाओं को पूरा करेगा।

pm narendra modi visit central vista project
Image Source: Dainik Bhaskar

 

प्रधानमंत्री ने तब कहा था, "(मौजूदा) इमारत अब सेवानिवृत्त होने की ओर देख रही है। 21वीं सदी के भारत को एक नया संसद भवन देना हम सभी का दायित्व है।"