काशी में जिस दिव्यांग लड़की को पीएम मोदी ने किया प्रणाम, जानिए कौन है और उसकी कहानी!

 | 
pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 और 14 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (PM Narendra Modi Varanasi Visit) में थे। इस दौरान पीएम मोदी ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर (Kashi Vishwanath Corridor) का उद्घाटन किया और गंगा आरती में भी शामिल हुए। कुल मिलाकर पीएम मोदी का का दो दिवसीय वाराणसी दौरा ऐतिहासिक रहा। 

वंही अपनी इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने एक ऐसा काम भी किया, जिसकी वजह से जमकर तारीफ हो रही है और उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है, जिसकी तारीफ आज पूरा देश कर रहा है। 

PM Modi की ये फोटो जमकर हो रही वायरल!

pm narendra modi

पीएम मोदी के वाराणसी दौरे के दौरान ऐसे कई वाकये हुए जिन्होंने पूरे देश का दिल जीत लिया। फिर चाहे वो प्रोटोकॉल तोड़कर बुजुर्ग के हाथों सिर पर पगड़ी पहननी हो या गोदौलिया में आम लोगों के बीच पहुंचकर बच्चे से लाड़ जताना। उनके इन कार्यों का वीडियो खूब वायरल हुआ। लेकिन आज हम आपको पीएम मोदी की ऐसी तस्वीर दिखाते हैं जिसे देखकर आपका दिव भर जाएगा।

pm narendra modi

दरअसल, पीएम नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे के दौरान एक दिव्यांग महिला उनसे मिली और उनके पैर छूने के लिए आगे आई, लेकिन प्रधानमंत्री ने बीच में ही महिला को रोक दिया और खुद उसका पैर छू लिया। इस दौरान महिला भाव-विभोर हो गई और हाथ जोड़कर खड़ी नजर आई। इसके बाद पीएम मोदी और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिव्यांग महिला से बातचीत भी की। 


इस तस्वीर में प्रधानमंत्री एक दिव्यांग महिला का पैर छूते दिख रहे हैं। साथ में सीएम योगी भी खड़े हैं। और अब पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं। भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वनाथी श्रीनिवासन ने फोटो शेयर करते हुए इसे समस्त नारी शक्ति का सम्मान बताया। उन्होंने ट्वीट कर कहा:-

'यह सम्मान समस्त नारी शक्ति का सम्मान है। हम सभी को अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गर्व है।'

कौन है ये दिव्यांग महिला?

pm narendra modi

हालांकि पीएम मोदी ने उन्हें रोका और खुद महिला की पैरों पर झुक गए और प्रणाम किया। जिस महिला के साथ ये अविस्मरणीय घटना हुई वो वाराणसी के सिगरा क्षेत्र की निवासी शिखा रस्तोगी हैं। शिखा जन्म से दिव्यांग हैं। 40 वर्षीय शिखा ने हाई स्कूल तक पढ़ाई की है। 

शिखा सिर्फ कहने के लिए दिव्यांग हैं। वह अपना सारा काम खुद करतीं हैं। किचन का काम हो, सिलाई हो, पूजा पाठ हो या बाहर जाना वह सब खुद करती हैं। यही नही शिखा को क्रिकेट खेलना, लूडो खेलना और डांस करने का भी शौक है। शिखा अपने परिवार के लोगो के अलावा बाहर के बच्चों को भी डांस सिखाती हैं।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकार्पण समारोह के बाद जब मुझसे मुलाकात की तो उन्होंने पहला सवाल किया और बताइए कैसी हैं आप। मैंने कहा सर मैं ठीक हूं। 

इसके बाद उनका आशीर्वाद लेने के लिए मैने उनका चरण स्पर्श करना चाहा तो पीएम ने स्वयं मेरे पैर छू लिए। भारत के प्रधानमंत्री का यह आचरण मेरी आंखों को नम कर गया। मुझे आज महसूस हुआ कि मेरा कद तो बहुत बड़ा है। वह क्षण मेरे लिए अविस्मरणीय हैं और मैं खुद को बेहद सौभाग्यशाली मानती हूं। यह कहते हुए शिखा रस्तोगी के चेहरे पर आत्मविश्वास की झलक नजर आ रही थी।

पीएम मोदी ने बच्चे को किया दुलार 


श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के नव्य-दिव्य स्वरूप के भव्य लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिनभर के व्यस्त कार्यक्रम के बाद देर रात 12:15 बजे अपने संसदीय क्षेत्र काशी घूमने निकले। इस दौरान सीएम योगी के साथ जगह-जगह जाकर बदलते बनारस का निहारा। पहला पड़ाव रहा काशी की हृदयस्थली गोदौलिया चौक। बीच चौराहे पर पीएम मोदी का काफिला रुका। गाड़ी से उतरे और दशाश्वमेध घाट की ओर रवाना हुए।


बीच सड़क पर प्रधानमंत्री को देखकर कई स्थानीय लोग भी सड़कों पर उतर आए।  उनमें से कई 'जय श्रीराम' के नारे लगा रहे थे तो कुछ 'पीएम मोदी जिंदाबाद' के नारे लगा रहे थे।

pm narendra modi

कुछ दूर पैदल चलने के बाद उन्होंने मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल से कई मिनट तक बात की। तभी वहां राजस्थान से आए एक परिवार के एक वर्ष के मासूम बच्चे को देखकर वह अपने आप को रोक नहीं पाए।

pm modi

प्रधानमंत्री ने उसे करीब बुलाकर बच्चे को लाड़-प्यार किया और पूछा, 'रात को सोते नहीं हो?' बच्चे का पिता इस दौरान आह्लादित नजर आया. इसके बाद प्रधानमंत्री वहां से आगे बढ़ गए। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रात में एक बजकर 13 मिनट पर बनारस रेलवे स्टेशन (मंडुवाडीह) का भी भ्रमण किया। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे। प्रधानमंत्री का फ्लीट स्टेशन के द्वितीय प्रवेश द्वार के सर्कुलेटिंग एरिया में आकर रुका।


वीडियो में साफ दिख रहा है कि प्रधानमंत्री काली जैकेट पहने और कंधे पर मफलर डाले तेजी से योगी आदित्यनाथ के साथ आगे बढ़ रहे हैं। उनके आगे-आगे सुरक्षाकर्मी चल रहे हैं और सड़क के दोनों किनारों पर बड़ी संख्या में उनके समर्थक उनका स्वागत कर रहे हैं और नारेबाजी कर रहे हैं। 


वीडियो में दिख रहा है कि जिस सड़क से पीएम मोदी गुजर रहे हैं, उसके दोनों तरफ स्पेशल लाइटिंग की गई है। स्ट्रीट लाइट को भी तिरंगे एलईडी से सजाया गया है। पीएम के पीछ-पीछे भी SPG के जवान उन्हें कवर करते हुए देखे जा सकते हैं।  बीचे-बीच में प्रधानमंत्री हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन भी कर रहे हैं। 

पीएम मोदी अपनी काशी यात्रा के दौरान सोमवार आधी रात को अचानक एक बार फिर से विश्वनाथ मंदिर पहुंच गए और फिर वहां से बनारस रेलवे स्टेशन भी पहुंचे। यहां से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री प्लेटफार्म संख्या आठ पर पहुंचे। स्टेशन की व्यवस्थाओं और यात्री सुविधाओं को देखना। प्रधानमंत्री करीब 10 मिनट ठहरने के बाद रवाना हुए।