सुरक्षा में चूक के बाद राष्ट्रपति से मिले पीएम मोदी, जानिये दोनों के बीच क्या बातचीत हुई?

 | 
pm narendra modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की। इस दौरान पीएम ने राष्ट्रपति को बुधवार हुई सुरक्षा चूक की जानकारी दी। वंही राष्ट्रपति कोविंद ने प्रधानमंत्री के पंजाब दौरे के समय उनके सुरक्षा बंदोबस्त में हुई गंभीर चूक पर गहरी चिंता जताई।

वहीं उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने भी इस मामले पर पीएम मोदी से बात की है।  प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई इस चूक पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि सुरक्षा प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए कठोर कदम उठाए जाएं, जिससे भविष्य में दोबारा इस प्रकार की चूक न हो। 

राष्ट्रपति कोविंद ने ली सुरक्षा में चूक की जानकारी

राष्ट्रपति भवन ने प्रधानमंत्री के साथ कोविंद की मुलाकात के बारे में एक बयान में कहा, 'राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आज राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कल पंजाब में उनके काफिले की सुरक्षा में हुई चूक पर सीधे उनसे जानकारी प्राप्त की।' ट्विटर पर इस बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति ने इस गंभीर चूक पर अपनी चिंता व्यक्त की।


राष्ट्रपति से मुलाकात की जानकारी खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी है। उन्होंने लिखा, 'आज राष्ट्रपति जी से मुलाकात की। उनकी चिंताओं और संवेदनाओं के लिए धन्यवाद। उनकी शुभकामनाओं के लिए आभारी हूं। वह हमेशा मेरे लिए संबल का स्रोत रहे हैं।' 

उपराष्ट्रपति ने भी पूछा पीएम का कुशल छेम!


इस बीच उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी पीएम नरेंद्र मोदी से बात की है। उन्होंने खुद ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी। उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ट्वीट किया गया, 'उपराष्ट्रपति ने पीएम नरेंद्र मोदी से पंजाब में कल उनकी यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा चूक को लेकर बात की। उन्होंने इस घटना को लेकर चिंता जताई। इसके साथ ही यह भी उम्मीद जताई कि कड़े कदम उठाए जाएंगे ताकि भविष्य में इस तरह की कोई घटना न हो सके।' 

पीएम की सुरक्षा चूक पर उस दिन क्या-क्या हुआ?

बता दें कि चुनावी राज्य पंजाब के दौरे पर गए प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में बुधवार को उस वक्त ‘‘गंभीर चूक’’ की घटना हुई, जब फिरोजपुर में कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक सड़क मार्ग को अवरुद्ध कर दिया, जहां से उन्हें गुजरना था। इस वजह से प्रधानमंत्री एक फ्लाईओवर पर 20 मिनट तक फंसे रहे। घटना के बाद प्रधानमंत्री दिल्ली लौट गए। 


वंही देखा जाए, तो पीएम की सुरक्षा जिम्मेदारी राज्य सरकार को सुनिश्चित करनी थी। मगर कुछ वायरल वीडियो में देखा गया कि पीएम को सुरक्षा देने बाले पुलिसबल खुद चक्का जाम करने बाले किसानो की चाय पी रहे थे। ऐसे में पीएम मोदी का बंहा रुकना और रास्ता जाम होना किसी तौर पर खतरे से खाली नहीं था।