स्वामी परमहंस का ऐलान: भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करो... नहीं तो 2 अक्टूबर को ले लेंगे जल समाधि

 | 
swami paramhans das

अयोध्या में तपस्वी छावनी में धर्म संसद के के दौरान छावनी के महंत जगदगुरु स्वामी परमहंस दास ने जल समाधि लेने का ऐलान किया है। स्वामी परमहंस दास ने पीएम नरेंद्र मोदी को संबोधित करते हुए ऐलान किया है कि यदि 2 अक्टूबर तक भारत देश को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया या हिंदू राष्ट्र को लेकर सरकार ने उनसे वार्ता नहीं की तो वह सरयू नदी में जल समाधि ले लेंगे। अपने प्राणों की आहुति दे देंगे।

swami param hans das

आपको बता दे, तपस्वी छावनी में रविवार को संत सनातन धर्म संसद का आयोजन किया गया। इस धर्म संसद में देश के अलग-अलग कोने के संत शामिल हुए। सनातन धर्म संसद में भारत देश को हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने की मांग उठी। साथ ही देश में संतो की हो रही हत्या आत्महत्या जैसे संवेदनशील विषयों पर गंभीरता के साथ चर्चा हुई। 

जल समाधि को लेकर क्या बोले स्वामी जी?

swami paramHans das
Image source: social Media

स्वामी परमहंस दास ने कहा की हिंदू बहुसंख्यक है तभी तक देश का संविधान और लोकतंत्र सुरक्षित है। बता दे, स्वामी परमहंस दास विगत कुछ महीनों से भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने की मांग को लेकर एक मुहिम चलाए हुए हैं। जिसमें उन्होंने देश के संतो से अपील की है कि वह इसमें अपना समर्थन दें जिससे भारत हिंदू राष्ट्र घोषित हो सके। 

स्वामी परमहंस दास ने केंद्र व प्रदेश सरकार से मांग किया कि तीर्थ स्थलों के चौरासी कोस की सीमा में मांस और मदिरा को प्रतिबंधित किया जाए। देश के मठ मंदिरों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है इसलिए उनकी बिजली और पानी को मुक्त किया जाए और सरकार संतो को एक लाख रुपये मानदेय भी प्रदान करें। 

मुगलो की नहीं शहीदों की कहानी पढ़ाओ 

स्वामी परमहंस दास ने सरकार से मांग करते हुए कहा, देश के पाठ्यक्रमों में मुगल आक्रांता को महान नहीं बताया जाए। देशभक्त वीरों भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद सहित अन्य देशभक्त वीरों के बारे में पाठ्यक्रमों को पढ़ाया जाए। स्वामी परमहंस दास ने मांग की कि गाय को राष्ट्रमाता घोषित करें और रामचरितमानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित किया जाना चाहिए।