पद्म विभूषण बाबासाहेब पुरंदरे का 99 साल की उम्र में निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

 | 
babasaheb purandare dead

भारत के जाने-माने इतिहासकार और लेखक बाबासाहेब पुरंदरे का सोमवार सुबह पुणे के दीनानाथ मंगेशकर मेमोरियल अस्पताल में निधन हो गया। वे 99 वर्ष के थे।  वे पुणे के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। पुरंदरे को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, पुरंदरे को शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां बाद में हालात गंभीर होने के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। इसके बाद से ही उनकी स्थिति में सुधार नहीं हो सका। अस्पताल ने कहा है कि उन्हें निमोनिया भी हुआ था। दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल के हेल्थ डायरेक्टर डॉ. धनंजय केलकर ने कहा कि बाबासाहेब को उम्र संबंधी बीमारियां थीं। उन्होंने आज सुबह 05:07 बजे अंतिम सांस ली। 

कौन थे बाबा पुरंदरे?

babasaheb purandare dead
Image Source: Amar Ujala

बाबासाहेब पुरंदरे देश के लोकप्रिय इतिहासकार-लेखक रहने के साथ थिएटर कलाकार भी रह चुके थे। उन्हें छत्रपति शिवाजी महाराज पर अपने विशेषज्ञता के लिए जाना जाता है। बाबासाहेब पुरंदरे ने छत्रपति शिवाजी महाराज पर कई किताबें लिखी हैं और अपना जीवन इतिहास और शोध के लिए समर्पित कर दिया था। इसके अलावा उन्होंने छत्रपति के जीवन और नेतृत्व शैली पर एक लोकप्रिय नाटक- जानता राजा का भी निर्देशन किया था। 

उन्हें 2019 में भारत के दूसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण और 2015 में महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। बाबा साहब का जन्म 29 जुलाई 1922 को हुआ था। उन्हें महाराष्ट्र में शिवशहर के नाम से जाना जाता है। ऐसा माना जाता है कि बाबासाहेब ने महान नाटक जाणता राजा (जनता का राजा) के माध्यम से छत्रपति शिवाजी महाराज के इतिहास को घर-घर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

महाराष्ट्र सीएम व देश के पीएम ने जताया शोक 

babasaheb purandare dead
Image Source: Dainik Bhaskar

उनके निधन की खबरों के बाद देशभर में उनके चाहने वालों ने शोक व्यक्त किया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बाबासाहेब के लिए राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार की घोषणा की है। वहीं, पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के साथ भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी बाबासाहेब के निधन पर दुख जताया।

प्रधानमंत्री मोदी ने पुरंदरे के साथ अपनी एक तस्वीर ट्वीट करते हुए कहा, 'सुनकर बहुत दुख हुआ। शिवशहर बाबासाहेब पुरंदरे का निधन इतिहास और संस्कृति की दुनिया में एक बड़ा शून्य छोड़ गया है। उन्हीं की बदौलत आने वाली पीढ़ियां छत्रपति शिवाजी महाराज से और जुड़ेंगी। उनके अन्य कार्यों को भी याद किया जाएगा।' 

babasaheb purandare dead
Image Source: Dainik Bhaskar

बाबासाहेब के निधन पर CM उद्धव ठाकरे के ऑफिस ने लिखा है, 'मुख्यमंत्री उद्धव बालासाहेब ठाकरे ने शिवशहर बाबासाहेब पुरंदरे का राजकीय अंतिम संस्कार से अंतिम संस्कार करने के निर्देश दिया है।'