नीरज चोपड़ा ने माता-पिता को पहली बार कराई हवाई सैर, लिखा- 'जिंदगी का एक सपना पूरा हुआ'

 | 
Neeraj Chopra

टोक्यो ओलिंपिक में भारत के 124 साल के ओलिंपिक इतिहास में पहली बार ट्रैक एंड फील्ड के जेवलिन थ्रो में गोल्ड दिलाने वाले नीरज चोपड़ा ने अपने माता-पिता को पहली बार हवाई यात्रा पर लेकर गए। इसी के साथ गोल्डन बॉय नीरज चोपड़ा का एक और सपना पूरा हो गया। भाला फेंक में भारत को पहला ओलंपिक पदक दिलाने वाले नीरज ने शनिवार को ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की। नीरज ने एक चार्टर्ड फ्लाइट में अपने माता-पिता के साथ तस्वीर साझा की।

उन्होंने अपने माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ दिल्ली से बैंगलुरु की यात्रा की। दरअसल नीरज का बैंगलुरु में सम्मान किया जाना है। जिसके लिये बह अपने माँ-पिता को भी साथ लेकर गए ,सभी लोगो ने इस यात्रा के लये फ्लाइट से सफर पूरा किया। जिसमे नीरज के माता-पिता का पहला मौका था जब बह फ्लाइट में बैठे। 


इसमौके पर भाला फेंक में भारत को पहला ओलंपिक पदक दिलाने वाले नीरज ने शनिवार को ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की। नीरज ने एक चार्टर्ड फ्लाइट में अपने माता-पिता के साथ तस्वीर साझा की। न्होंने तस्वीर शेयर करने के साथ उसके कैप्शन में लिखा:- 

'आज जिंदगी का एक सपना पूरा हुआ जब अपने मां-पापा को पहली बार फ्लाइट पर बैठा पाया। सभी की दुआ और आशिर्वाद के लिए हमेशा आभारी रहूंगा।'

नीरज ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर किया है, जिसमें वह अपने माता-पिता के साथ फ्लाइट के अंदर बैठे हुए हैं और काफी खुश नजर आ रहे हैं। नीरज टोक्यो ओलिंपिक में मेडल जीतने के बाद कहा था कि वह अपने परिवार के साथ कुछ दिन बिताएंगे।  वे लगातार अलग-अलग जगह पर सम्मान कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं। इन सबकी वजह से वह अपने परिवार को भी समय नहीं दे पा रहे हैं। 

Neeraj Chopra

उसके बाद वह कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स और वर्ल्ड चैंपियनशिप की तैयारी में जुटेंगे। बता दें कि टोक्यो से लौटने के बाद नीरज की व्यस्तता बढ़ गई है।