नीरज चोपड़ा के कोच को फेडरेशन ने बर्खास्त क्यों कर दिया गया?

 | 
Neeraj Chopra coach

AFI यानी एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने जैवलिन के नेशनल कोच उवे हॉन को बर्खास्त कर दिया है। एएफआई ने सोमवार को घोषणा की कि उसने भाला फेंक के राष्ट्रीय कोच उवे हॉन से नाता तोड़ दिया है। एएफआई ने बताया कि वह कोच के प्रदर्शन से खुश नहीं था और अब जल्द ही दो नए विदेशी कोच नियुक्त करेगा। 

59 साल के उवे हॉन को ही नीरज चोपड़ा, शिवपाल सिंह और अन्नु रानी को ट्रेंड करने की जिम्मेदारी दी गई थी। इनकी कोचिंग में नीरज चोपड़ा ने एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था। हालांकि टोक्यो ओलंपिक्स के समय नीरज के कोच क्लाउज बार्तोनित्ज थे। बता दें कि पूर्व विश्व रिकार्ड धारक 59 वर्षीय जर्मन हॉन का अनुबंध टोक्यो ओलंपिक तक ही था।

फेडरेशन ने क्या वजह बताई?

uwe hohn and neeraj chopra
Image Source: Social Media

उवे हॉन को साल 2017 में कोच बनाया गया था। एएफआई अध्यक्ष आदिल सुमरिवाला ने कहा:-

‘हम दो नए कोच की नियुक्ति करने जा रहे हैं तथा हम उवे हॉन को बदल रहे हैं, क्योंकि हम उनके प्रदर्शन से खुश नहीं हैं। हम तूर (गोला फेंक के एथलीट ताजिंदरपाल सिंह तूर) के लिए भी विदेशी कोच देख रहे हैं।’

बता दें कि हॉन को ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा और टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले दो अन्य एथलीटों शिवपाल सिंह और अनु रानी जैसे खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के लिए नवंबर 2017 में एक साल के लिए मुख्य कोच नियुक्त किया गया था। इसका हवाला देते हुए आदिल सुमरिवाला ने कहा:-

“ये बहुत सिंपल है। शिवपाल और अन्नू को उवे हॉन कोचिंग दे रहे थे। दोनों खिलाड़ियों का प्रदर्शन खराब रहा। इसलिए उवे हॉन को घर भेज दिया गया है। अब उनकी जगह किसी नए कोच को लाएंगे। शॉट पुट खिलाड़ी तजिंदर पाल सिंह तूर के लिए भी एक विदेशी कोच देखा जा रहा है।”

नीरज चोपड़ा भी कोच से खुश नहीं?

uwe hohn and neeraj chopra
Image Source: Social Media

नीरज चोपड़ा राष्ट्रमंडल और एशियाई खेल 2018 में उनकी निगरानी में खेले, लेकिन इसके बाद जर्मनी के ही क्लॉस बार्टोनीज यह भूमिका निभाने लगे थे। टोक्यो ओलंपिक्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा भी उवे हॉन की कोचिंग से संतुष्ट नहीं थे। नीरज ने कहा था:-

“मैंने उवे हॉन सर के साथ वक्त बिताया है। उन्होंने मुझे ट्रेनिंग दी है। वह बहुत अच्छे हैं। मैं उनकी इज्जत करता हूं। मैंने उवे हॉन सर के कार्यकाल में ही 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में गोल्ड जीता था। लेकिन मुझे लगता है कि उवे हॉन का ट्रेनिंग देने का स्टाइल और तकनीक थोड़ा अलग था। बाद में जब मैंने क्लाउज बार्तोनित्ज सर के साथ काम करना शुरू किया तो मुझे उनका ट्रेनिंग प्लान अच्छा लगा था। ये मुझे सूट भी किया।”

कोच उवे हॉन का फेडरेशन संग पुराना विवाद 

uwe hohn and neeraj chopra
Image Source: Social Media

उवे हॉन की बर्खास्तगी की क्या सिर्फ यही वजह है, या कुछ और भी मामला है? दरअसल, ओलंपिक से पहले यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) और एएफआई ने अनुबंध स्वीकार करने के लिए उन्हें ‘ब्लैकमेल’ किया था। दोनों संस्थाओं ने हालांकि इस आरोप को खारिज कर दिया था।