''"मैं श्राप देती हूं...आपके बुरे दिन आएंगे", जब राज्‍यसभा में जया बच्‍चन को आया गुस्‍सा!

 | 
jaya bachchan

पनामा पेपर लीक मामले में सोमवार को एक तरफ जहां ऐश्वर्या राय बच्चन से प्रवर्तन निदेशालय (ED) पूछताछ कर रही थी, वहीं दूसरी ओर राज्यसभा में सरकार पर सपा सांसद जया बच्चन का गुस्सा सातवें आसमान पर था। राज्यसभा में आज नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रॉपिक पदार्थ (संशोधन) विधेयक 2021 पर चर्चा की जा रही थी। इस चर्चा में कई बार संसद का तापमान बढ़ गया।  

पहले दिग्विजय सिंह ने सरकार पर आरोप लगाए उसके बाद जया बच्चन का गुस्सा सरकार पर फूटा। उन्होंने तो सरकार को बुरे दिन आने का शाप तक दे डाला। समाजवादी पार्टी से राज्‍यसभा सांसद जया बच्‍चन (Jaya Bachchan) सोमवार को नारकोटिक्‍स ड्रग्‍स बिल पर चर्चा के दौरान सत्‍ताधारी दल के एक सदस्‍य की टिप्‍पणी से खफा नजर आईं। 

jaya bachchan

इस दौरान उन्‍होंने 'चेयर' पर भी विपक्ष की बात नहीं सुनने का आरोप लगाया। 'चेयर' को संबोधित करते हुए जया ने कहा, 'आपको निष्‍पक्ष रहना चाहिए और किसी पार्टी विशेष का समर्थन नहीं करना चाहिए।' गुस्से में तमतमाईं जया बच्चन ने केंद्र सरकार और भाजपा सांसदों को यहां तक कह डाला, 'मैं श्राप देती हूं कि BJP के बुरे दिन जल्द आने वाले हैं।'

संसद में जया बच्चन ने सरकार को दिया श्राप 

दरअसल, नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रॉपिक पदार्थ (संशोधन) विधेयक 2021 पर चर्चा करने के लिए जब जया बच्चन को बुलाया गया तो उन्होंने आते ही कहा- 'मैं आपको धन्यवाद नहीं देना चाहती, क्योंकि समझ नहीं आता कि जब आप इस तरफ से चिल्लाकर वेल में जाते थे, उस वक्त को याद करूं या फिर आज आप जो कुर्सी पर बैठे हैं उस वक्त को।

जया बच्चन की बात पर बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने उन पर संसद की गरिमा को कम करने का आरोप लगाया। साथ ही उन पर यह आरोप भी लगाया कि उन्होंने संसद के स्पीकर को व्यक्तिगत तौर पर संबोधित किया है। 

उस वक्त चेयर पर भुवनेश्वर कालिता बैठे थे। उन्होंने जय बच्चन को माननीय सदस्य कहकर अपनी बात दोबारा रखने के लिए कहा। इसपर जया बच्चन ने कहा- 'शुक्रिया कि आपने मुझे माननीय कहा, लेकिन अगर आप मुझे सच में माननीय समझते हैं, तो मेरी बात ध्यान से सुनें। हमें न्याय चाहिए। हम उनसे (सरकार) न्याय की उम्मीद नहीं कर सकते, लेकिन क्या आपसे कर सकते हैं? सदन के सदस्यों और जो बाहर 12 सदस्य बैठे हैं उनके लिए आप क्या कर रहे हैं??' 

jaya bachchan

जया ने इस दौरान विपक्षी सांसदों की ओर इशारा करते हुए कहा कि आप लोग भी आखिर किसके आगे बीन बजा रहे हैं। जया बच्चन इतने गुस्से में थीं कि वह हांफने लगीं। उनकी सांस तक फूल रही थी। इस वजह से उन्हें कुछ सेकेंड के लिए रुकना भी पड़ा।

जया बोलीं-तो हमारा गला ही घोंट दीजिए

जया बच्चन ने कहा कि सदन में जो हो रहा है वह काफी दुखद है। उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आपके बुरे दिन बहुत जल्दी आने वाले हैं, इसके लिए आपको मेरी ओर से श्राप है। उन्होंने कहा कि अगर आप लोगों में अपने साथियों के लिए जरा भी सम्मान नहीं है तो हमारा गला ही घोंट दीजिए, बोलने तो दे नहीं रहे हैं। आपके बुरे दिन आएंगे। मैं श्राप देती हूं।

jaya bachchan

सदन से बाहर आकर जया बच्चन ने कहा, ' मैं किसी पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहती। जो कुछ हुआ वो दुर्भाग्यपूर्ण था। उन्हें इस तरह से बात नहीं करनी चाहिए थी। मैं इससे बहुत आहत हूं।' इसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।