लापरवाही की हद: आधार कार्ड पर नाम की जगह लिखा दिया- "मधु का 'मधु का पांचवां बच्चा'

 | 
madhu ka panchwa baccha

उत्तर प्रदेश के बदायूं में आधार कार्ड बनाने के दौरान ऐसी लापरवाही सामने आई है जिसे देखकर हर कोई हैरान है। जिसको लेकर टीवी चैनलों में बहस छिड़ गई। मामला सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भी पहुंच गया।आइए जानते है कौन है मधु और सुर्खियों में कैसे आया उसका पांचवां बच्चा?

नाम की जगह लिख दिया 'मधु का पांचवां बच्चा'

बदायूं जिले के बिल्सी तहसील क्षेत्र के एक गांव में अनोखा मामला सामने आया है।  यहां पर आधार कार्ड बनाने वाले किस तरह से लापरवाही और मनमानी करते हैं यह साफ नजर आया। आधार कार्ड बनवाने के दो साल बाद जब बच्चे का दाखिला कराने अभिभावक स्कूल पहुंचे तो उनके सामने पूरा मामला आया। 

madhu ka panchwa baccha
Image Source: Social Media

दरअसल, बिल्सी के एक गांव में एक शख्स अपने बच्चे का एडमिशन कराने प्राथमिक विद्यालय पहुंचा तो टीचर ने उसका एडमिशन करने से इनकार कर दिया। वजह थी आधार कार्ड पर बच्चे का नाम। बच्चे के आधार पर नाम की जगह "मधु का पांचवां बच्चा' लिखा हुआ था। 

जिसके बाद शिक्षिका ने छात्रा के पिता दिनेश को आधार कार्ड को संशोधित कराने के बाद ही बच्चे का एडमिशन करने की बात कही है। लेकिन मामले ने तब टूल पकड़ लिया जब इसकी एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जिसके बाद तो मामला और आधार कार्ड जंगल में लगी आग की तरह फ़ैल गया। और इतना फैला की सीएम योगी तक खबर जा पहुंची। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा आधार कार्ड

'मधु का पांचवां बच्चा' लिखा आधार कार्ड सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है। बिल्सी तहसील क्षेत्र के गांव रायपुर का रहने वाले दिनेश के 5 बच्चे हैं।  उनके तीन बच्चे गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में पढ़ते हैं। दिनेश अपनी बेटी आरती का एडमिशन कराने विद्यालय पहुंचा तो वहां मौजूद शिक्षिका एकता वार्ष्णेय ने नामांकन की सभी औपचारिकताओं को पूर्ण करते हुए जब बच्ची का आधार कार्ड देखा तो हैरान रह गईं। 


आधार कार्ड में बच्ची आरती के नाम के स्थान पर 'मधु का पांचवां बच्चा' लिखा हुआ था। इसके साथ ही साथ आधार कार्ड पर आधार नंबर भी नहीं लिखा है। शिक्षिका ने आरती के पिता दिनेश से आधार कार्ड में नाम संशोधन कराकर लाने के बाद ही एडमिशन करने की बात कही है। साथ ही और लोगों से अपील की है इस तरह की गलतियों को नजरअंदाज ना करें। 

सीएम योगी के दखल पर मिला दाखिला!

जागरण की रिपोर्ट अनुसार, आधार कार्ड में नाम की जगह लिखे मधु के पांचवां बच्चे पर बहस शुरू हो गई। टीवी चैनलों में इसे लापरवाही बताया जाने लगा तो किसी ने सिस्टम पर सवाल खड़े करना शुरू कर दिए। मामला सीएम योगी आदित्य नाथ के पास पहुंच गया।


जिसके कुछ देर बाद डीएम ने आदेश जारी किए। इसके बाद बच्चे का एडमिशन होने के साथ-साथ आधार में नाम भी संशोधित हो गया। इस पूरे मामले के दौरान आधार की प्रक्रिया से जुड़ी नई जानकारी भी लोगों के संज्ञान में आई।