जानिये कौन है ये मासूम रिपोर्टर, जिसने सड़क की बदहाली की ख़बर देकर सबका दिल जीत लिया!

 | 
viral video

कश्मीर की एक छोटी से बच्ची का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वो भारी बारिश के कारण खराब हुई सड़कों की हालत को अपने अंदाज में बयां कर रही हैं। टूटी-फूटी सड़कें, सड़कों पर गड्डे और उस पर इस मासूम बच्ची की रिपोर्टिंग ने लोगो का दिल जीत लिया। 

बच्ची का यह वीडियो जब से पोस्ट हुआ है सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहा है। नेटिजन्स गुलाबी जैकेट पहनी इस नन्हीं रिपोर्टर की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। आइये जानते है कौन है ये वायरल बच्ची?

कश्मीर की 5 साल की रिपोर्टर कौन?

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बच्ची का नाम हाफ़िज़ा है और उसका वीडियो उसकी मां ने रिकॉर्ड किया है। बच्ची वीडियो में कह रही है, 'ये इतनी गंदी रोड है कि मेहमान भी इधर से नहीं आ सकते।' बच्ची की मासूमियत और उसकी रिपोर्टिंग के अंदाज ने सोशल मीडिया का दिल जीत लिया है। 


बच्ची की मां शाइस्ता हिलाल ने मीडिया से बातचीत में बताया, कि हफीजा ने रिपोर्टिंग के दौरान उन्हें बताया कि मोबाइल का कैमरा कैसे होल्ड करना है, कैसे वीडियो को शूट करना है। उन्होंने कहा कि हफीजा सिर्फ अच्छी रिपोर्टिंग ही नहीं बल्कि एक अच्छी डायरेक्टर भी हैं। 

क्या खास था बच्ची के वीडियो में?

हाफ़िज़ा की उम्र 5 साल है और उसके माता-पिता का नाम बिलाल अहमद ख़ान और शैस्ता हिलाल है। हाल ही में कश्मीर में हुई बर्फ़बारी और बरसात के बाद हाफ़िज़ा के घर तक आने वाली सड़क की हालात बहुत खराब हो गई। छोटी सी बच्ची ने सड़क की बदहाली को दिखाने का निर्णय लिया और उसकी मां ने इसमें उसकी सहायता की। 

viral video

मोबाइल फोन पर शूट किए गए इस वीडियो में बच्ची बता रही है कि कैसे कीचड़ और बारिश के कारण सड़कों की हालत और खराब हो गई है। वीडियो में वह दिखा रही है कि लोग कैसे सड़कों पर कचरा फेंक रहे हैं और कह रही है “सब गंदा हो गया है।” उत्साह से भरी नन्हीं रिपोर्टर अपने दर्शकों से वीडियो ‘लाइक, शेयर और सब्सक्राइब’ करने तथा अगले वीडियो में फिर से मिलने का वादा भी कर रही है। 

हाफ़िज़ा ने हाल ही में स्कूल जाना शुरु किया है और वीडियो देखकर लगता है कि वो आगे चलकर एक मशहूर पत्रकार बन सकती है। यह पहली बार नहीं है जब घाटी के किसी बच्चे ने वीडियो संदेश के माध्यम से प्रशासन से अपील की है। इससे पहले भी कई बच्चो ने सोशल मीडिया का सहारा लेकर अपनी बात प्रशाशन तक पहुँचने की कोसिस की है।