आप लोगों के बुरे दिन आएंगे.... जया बच्चन ने दिया मोदी सरकार को शाप, देखिये वीडियो!

 | 
jaya bachchan

आपने पढ़ा या सुना जरूर होगा कि एक बार ऋषि दुर्वासा ने शाप दिया तो इंद्र का राजपाट चला गया था। ब्रह्मा जी को भी श्राप मिला था कि देवता होने के बाद भी उनकी पूजा नहीं होगी, इसकी पूरी कथा आप गूगल पर पढ़ सकते हैं या बड़े-बुजुर्गों से सुन सकते हैं। खैर, आज बात राजनीति में शाप की करते हैं, जो आज भी चलन में ला रही है जया बच्चन...बो भी लोकतंत्र के मंदिर में यानी संसद भवन के अंदर। क्या है पूरा माजरा? आइये आपको समझाते है। 

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले 3-4 डिग्री तापमान के बीच दिल्ली में चल रहा शीतकालीन सत्र काफी गरम है। हंगामा इतना बढ़ा कि सपा सांसद जया बच्चन ने संसद में ही शाप दे दिया। राज्यसभा में अपने खिलाफ निजी टिप्पणी से आहत जया ने भाजपा को शाप दे दिया कि जल्द ही उनके बुरे दिन आने वाले हैं।

संसद में हुआ क्या था?

राज्यसभा में आज नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रॉपिक पदार्थ (संशोधन) विधेयक 2021 पर चर्चा की जा रही थी। इस चर्चा में कई बार संसद का तापमान बढ़ गया।  पहले दिग्विजय सिंह ने सरकार पर आरोप लगाए उसके बाद जया बच्चन का गुस्सा सरकार पर फूटा। उन्होंने तो सरकार को बुरे दिन आने का शाप तक दे डाला। 

jaya bachchan

तिलमिलाई जया बच्चन ने आसन से कह दिया कि उन्हें निष्पक्ष होना चाहिए। उन्होंने विपक्ष की आवाज को दबाए जाने का भी आरोप लगाया। 


आपको बता दें कि सदन में चर्चा में भाग लेने के लिए जया बच्चन का जब नाम लिया गया तो कुछ नेताओं ने आपत्ति जताई। जया बच्चन ने ये भी आरोप लगाया कि उनके खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की गई। इसके बाद उन्हें गुस्सा आया और बात श्राप देने तक पहुंच गई। 

jaya bachchn

जया बच्चन ने आगे कहा कि, आप गला ही घोंट दीजिए हमलोगों का, आप लोग चलाइए। क्या कह रहे हैं आप लोग?'' जया बच्चन ने विपक्षी दलों के नेताओं से कहा कि आप बीन किसके आगे बजा रहे हैं। 

वहीं राज्यसभा में दिए जया के इस बयान के बाज हंगामा और तेज हो गया। जिसके बाद पीठासीन अध्यक्ष भुवनेश्वर कलिता ने सदन की कार्यवाही पांच बजे तक के लिए स्थगित कर दी। 

अजय मिश्रा का इस्तीफ़ा नहीं चलने दे रहा संसद?

बता दें कि विपक्षी दल केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे और 12 सासंदों के निलंबन की वापसी की मांग कर रहे हैं। इसी वजह से सदन में लगातार हंगामें हो रहे हैं। कांग्रेस सांसद राहुल गाँधी संसद के अंदर और बाहर दोनों तरफ सरकार को अजय मिश्रा मुद्दे पर घेरे हुए है। 


वंही सरकार की तरफ से अभी तक अपने मंत्री के इस्तीफे को लेकर कोई पहल नहीं की गई है। हां कुछ भाजपा नेताओ को ये कहते जरूर सुना गया है कि लखीमपुर में जो कुछ हुआ उसमे गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे का दोष है मंत्री जी का नहीं। ऐसे में उनके इस्तीफे की बात ही नहीं बनती है।