प्यार की मिसाल! जापानी राजकुमारी ने की आम नागरिक से शादी, प्यार के लिए छोड़ दी करोडो की शाही धन-दौलत

 | 
japani princess marriage a comman man

जापान की राजकुमारी माको ने एक आम नागरिक से शादी कर ली है, जिसके चलते उन्होंने अपना शाही दर्जा खो दिया है। उनके बॉयफ्रेंड केई कोमुरो ( Kei Komuro) जापानी राजवंश से बाहर एक सामान्य नागरिक हैं। शादी के बाद जापानी राजवंश की परंपरा के मुताबिक, राजकुमारी माको की शाही पदवी भी खत्म हो गई। 

हालांकि राजकुमारी के विवाह और उनका शाही दर्जा खत्म करने के मुद्दे पर जनता की राय बंटी हुई है। दरअसल, जापानी राजवंश की परंपरा के अनुसार राजवंश से बाहर विवाह करने पर राजकुमारी या राजकुमार को लगभग साढ़े सात करोड़ रुपये का हर्जाना भी दिया जाता है। लेकिन माको ने इस हर्जाने को लेने से भी इनकार कर दिया है। माको ने बेहद साधारण तरीके से शादी करने का फैसला किया। 

japani princes

विवाह के बाद किसी भोज का आयोजन नहीं होगा और न ही कोई अन्य साही रस्में होंगी। माको(30) सम्राट नारुहितो की भतीजी हैं। वह और कोमुरो तोक्यो की ‘इंटरनेशनल क्रिश्चियन यूनिवर्सिटी’ में साथ पढ़ते थे। उन्होंने सितंबर 2017 में विवाह की घोषणा की थी, लेकिन उसके दो महीने बाद कोमुरो की मां से जुड़ा एक वित्तीय विवाद सामने आने के कारण शादी को टाल दिया गया था। 

राजकुमारी माको लगभग चार साल तक अपने सामान्य प्रेमी से शादी करने के लिए परिवार को मनाती रहीं। इस दौरान कई विवाद झेले। पिछले दो साल तक वह डिप्रेशन का भी शिकार रहीं। माको का कहना है कि उन्होंने ये सब अपने प्यार के कारण किया। वे जीवन में खुशियां चाहती हैं। आखिरकार उन्हें अब खुशियां नसीब होंगी। 

japani princess mako marriage
Image Source: Japan Forward

जापान के शाही नियमों के अनुसार आम नागरिक से विवाह के बाद माको अब अपना शाही दर्जा खो चुकी हैं, उन्होंने अपने पति का उपनाम अपना लिया है। कानून के तहत विवाहित जोड़े का एक उपनाम का इस्तेमाल करना जरूरी है।  राजकुमारी माको के प्रेमी कोमुरो अमेरिका में कानून की पढ़ाई कर रहे हैं।  

कोमुरो को लेकर बताया गया है कि वह स्कीईंग, वायलिन बजाने और कुकिंग के शौकीन हैं। समुद्र तटों पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वह बतौर 'प्रिंस ऑफ द सी' काम करते हैं। राजकुमारी माको को लेकर बताया गया है कि उनके प्रेमी केई कोमुरो ने दिसंबर 2013 में एक डिनर के दौरान उन्हें शादी का प्रस्ताव दिया। 

japani princess marriage
Image Source: Ichowk

दोनों ने अपने प्यार को लंबे समय तक छिपाकर रखा। फिर राजकुमारी ब्रिटेन में पढ़ाई करने चली गई। जापानी राजवंश में सिर्फ पुरुष ही गद्दी के उत्तराधिकारी होते हैं। इस नाते राजकुमारी माको के छोटे भाई राजकुमार हिसाहितो (14) इस वक्त अपने पिता आकिशिनो के अलावा गद्दी के इकलौते दावेदार हैं। 

जापान के शाही नियमों के अनुसार राजवंश से बाहर शादी करने वाली शाही महिलाओं के पुत्रों को गद्दी का उत्तराधिकारी नहीं माना जाता। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद शाही परिवार की वह पहली सदस्य हैं, जिन्होंने एक आम नागरिक से शादी करते समय उपहार के तौर पर कोई धन नहीं लिया। 

japani princess mako marriage
Image Source: Ichowk

मंगलवार सुबह वह हल्के नीले रंग की पोशाक पहने और हाथ में एक गुलदस्ता लिए महल से बाहर आईं। वहां वह अपने माता-पिता क्राउन प्रिंस अकिशिनो, क्राउन प्रिंसेस किको और अपनी बहन काको से मिलीं। और अपने नव दाम्पत्य जीवन के लिए सुभकामनाएँ ली।