जब बूढ़े माँ-बाप को घर से निकालने के आरोपी बेटा-बहू को सबक सिखाने खुद पहुँच गए कमिश्नर साहब

 | 
ips aseem arun helped old couple

खबर अगस्त माह से जुडी है, झुकी कमर, चेहरे पर झुर्रियां और आंखों में आंसुओं का सैलाब लेकर पुलिस कमिश्नर ऑफिस में बुजुर्ग दंपति की कहानी ने सभी को उस बक्त इमोशनल कर दिया, जब बुजुर्ग दंपति ने बताया कि उम्र के आखिरी पड़ाव पर उनके बेटे और बहू ने घर से बाहर निकाल दिया है। बस फिर क्या था खुद कमिश्नर साहब निकल पड़े बेटा-बहु को सबक सिखाने। 

वाकया ये था कि शहर में रहने वाले एक बुजुर्ग दंपति का आरोप है कि उनके बेटे-बहू ने उन्हें घर से बाहर निकाल दिया। इसके बाद थाने और चौकी में चक्कर लगाकर परेशान हुए दंपती ने पुलिस कमिश्नर से शिकायत की। बुजुर्ग दंपति ने पुलिस कमिश्नर असीम अरुण को आपबीती बताई, जिसके बाद पुलिस कमिश्नर ने दोनों की बात को गंभीरता से सुना और खुद बुजुर्ग दंपति को न्याय दिलाने के लिए उनके घर पहुंच गए। 

बेटे-बहू पर घर से निकालने का आरोप

IPS aseem arun helped old couple

मीडिया खबरों के अनुसार, बुजुर्ग दंपति की उनके बेटे-बहू से कहासुनी हो गई। आरोप है कि तब बेटे-बहू ने बुजुर्ग दंपति से मारपीट की थी। बुजुर्ग दंपती को पीटकर घर से निकालने के बाद बेटे और बहू ने उनका सामान समेट कर कमरों में अपने ताले डाल दिए थे। इसके बारे में बुजुर्ग ने चकेरी थाने में बेटे और बहू के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया। इसके बावजूद बेटे और बहू की हरकतें बंद नहीं हुईं, ऐसा उनका आरोप है। 

कमिश्नर ने बेटे-बहू को ऐसे सिखाया सबक


बुजुर्ग दंपति ने पुलिस कमिश्नर असीम अरुण को आपबीती बताई, जिसके बाद पुलिस कमिश्नर ने दोनों की बात को गंभीरता से सुना और खुद बुजुर्ग दंपति को न्याय दिलाने के लिए उनके घर पहुंच गए। पुलिस कमिश्नर जब घर के अंदर बुजुर्ग दंपति संग पहुंचे, तो कमरे में ताला पड़ा हुआ था। पूछने पर बुजुर्ग दंपति ने उन्हीं के कमरे होने की जानकारी दी। पुलिस कमिश्नर ने बहू से दोनों कमरों के ताले खुलवाये। 

वहीं, उन्होंने बुजुर्ग दंपती को घर में रहने की बात कहते हुए अपना नंबर दिया और दोबारा परेशानी होने पर तत्काल सूचना देने की बात कही है। बुजुर्ग दंपती से मारपीट करने के आरोप में उनके बेटे और बहू को पुलिस हिरासत में थाने भेज दिया। दंपति को घर में दाखिल कराने के बाद कमिश्नर असीम अरुण ने उनसे कहा कि, “अब आप लोग आराम से रहिए लेकिन आपके बेटे-बहू ने जो किया है, उसकी सजा उनको जरूर मिलेगी।”


इस घटना के दो वीडियो वायरल हैं। एक वीडियो में पुलिस अधिकारी बुजुर्ग दंपति को लेकर उनके घर पहुंचते दिखाई दे रहे हैं। 

बेटा-बहु दोनों भेज गए जेल 

IPS aseem arun helped old couple

पुलिस कमिश्नर ने सख्त कदम उठाते हुए बेटे और बहू को गिरफ्तार कराकर शांतिभंग की कार्रवाई कराई। 1 अगस्त को कोर्ट में दोनों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें तीन दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। 

क्या बोले पुलिस कमिश्नर?

IPS aseem arun helped old couple

पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने मीडिया से बात करते हुए कहा, कि बेटे और बहू को सोचना चाहिए कि एक दिन उन्हें भी बुजुर्ग होना है, ऐसे में वे अपने बच्चों के सामने क्या उदाहरण पेश करते हैं। जिन्होंने पाल पोसकर बड़ा किया, उन माता-पिता से मारपीट करना और उन्हें बेसहारा करके घर से निकालने वालों के लिए यह एक सबक है। इसे खुद समझें और इन रिश्तों में कानून को दखल देने को मजबूर न करें।