शर्मनाक! ब्रेन हैमरेज मरीज को नहीं मिला स्ट्रेचर, प्लास्टिक के बोरे पर लपेटकर भटकते रहे घरवाले

 | 
ara hospital news

बिहार सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार का हर बार दावा करती है लेकिन अभी भी राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाली का शिकार है। अब जल्द घटी इस दर्दनाक घटना को ही देख लीजिये। बिहार में एक जिला है भोजपुर। यहां के आरा सदर अस्पताल से इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया। जहां ब्रेन हैमरेज से पीड़ित बुजुर्ग महिला मरीज को स्ट्रेचर के अभाव में इलाज के लिए परिजनों को अस्पताल में इधर-उधर भटकना पड़ा। 

क्या है पूरा मामला?

ara Hospital News
Image Source: NBT

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इमादपुर क्षेत्र के बिहटा गांव में रहने वाली फूलझारो कुंवर अपने घर में काम करते हुए गिर गई थीं, जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए तरारी रेफरल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि उन्हें ब्रेन हेमरेज हो गया है। जहां चिकित्सक ने उन्हें सीटी स्कैन कराने की बात कही।  

जब वो मरीज को लेकर सीटी स्कैन कराने के लिए अस्पतालकर्मियों से स्ट्रेचर की मांग की तो वहां मौजूद कर्मियों ने स्ट्रेचर कहीं और जगह व्यस्त होने की बात कह कर इंतजार करने को कहा। ब्रेन हैमरेज से पीड़ित एक बुजुर्ग महिला मरीज को स्ट्रेचर के अभाव में पॉलीथीन शीट में लपेटकर उसके परिजन इधर-उधर भटकते रहे, लेकिन एक अदद स्ट्रेचर तक नहीं मिल पाया। 

ara Hospital News
Image Source: NBT

मरीज की तबियत ज्यादा खराब देख परिजन किसी तरह पॉलीथीन शीट का सहारा लेते हुए उन्हें उसमें लपेट मरीज को इलाज के लिए गए। 

अस्पताल की बेबुनियादी सफाई 

ara Hospital News
Image Source: NBT

जब पूरे घटना क्रम में अस्पताल प्रबंधन से इस बाबत पूछा गया तो हॉस्पिटल मैनेजर गोल मटोल जवाब देते हुए कहा कि जो भी स्ट्रैचर है वो पोस्टमार्टम रूम में गया था और जो स्ट्रेचर था वो कहीं वार्ड में गया था। इसलिए समय पर उन लोगों को स्ट्रेचर उप्लब्ध नहीं हो पाया।