अपने आखरी सफर पर निकले कैप्टन वरुण, बेटे और भाई ने दी मुखाग्नि...रोता रहा परिवार!

 | 
varun singh

एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह पंचतत्व में विलीन हो गए। भाई और बेटे ने उन्हें मुखाग्नि दी। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैप्टन वरुण सिंह को श्रद्धांजलि दी और उनके परिवार से मुलाकात भी की। इससे पहले वरुण सिंह का पार्थिव शरीर बैरागढ़ मिलिट्री अस्पताल से मुक्तिधाम के लिए रवाना किया गया। सड़क के दोनों ओर उनके अंतिम दर्शन और विदाई के लिए लोग पहुंचे थे। 

Shivraj singh

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैप्टन को सैल्यूट किया। कैप्टन के बेटे के कंधे पर हाथ रख ढांढस बंधाया। परिवार को सांत्वना दी। तीनों सेनाओं - जल, थल और नभ के अफसरों ने श्रद्धांजलि दी। अंतिम संस्कार के दौरान आम लोग बैरिकेड के दूसरी तरफ से ग्रुप कैप्टन विक्रम सिंह के पार्थिव शरीर का दर्शन कर पाए। इसके बाद मुक्तिधाम में राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ कैप्टन वरुण सिंह का अंतिम संस्कार किया गया।

मीडिया खबरों के अनुसार, सेना के थ्री-ईएमई सेंटर स्थित मिलिट्री हॉस्पिटल से पार्थिव शरीर को बैरागढ़ स्थित यथाशक्ति विश्राम घाट पर सुबह 11 बजे लाया गया। फूलों से सजे सेना के ट्रक में वरुण की पार्थिव देह रखी थी। पूरे रास्ते लोग भारत माता की जय, वरुण सिंह अमर रहें ... के नारे लगाते चले।

varun singh

यहां मध्यप्रदेश सरकार के मंत्री-विधायकों ने कैप्टन को श्रद्धांजलि दी थी। यहां से पार्थिव शरीर को सेना के वाहन से भोपाल स्थित सन सिटी कॉलोनी में उनके घर ले जाया गया था। यहां वरुण सिंह की मां ने बहू के कंधे पर हाथ रखकर कहा था- तुम सबसे बड़ी वीरांगना, बहादुर बेटी हो...। 

26 जनवरी को शौर्य चक्र से किया गया था सम्मानित

varun singh
Image Source: Dainik Bhaskar

आपको बता दे, वरुण ग्रुप कैप्‍टन अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट रहे थे. अभिनंदन वर्धमान ने ही 27 फरवरी 2019 को भारत की सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ा था। साल 2020 में एक हवाई इमरजेंसी के दौरान अपने LCA तेजस लड़ाकू विमान को बचाने के लिए वरुण सिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जा चुका है। इस साल के स्वतंत्रता दिवस पर इस कैप्टन को इस सम्मान से नवाजा गया था। 

varun singh
Image Source: Dainik Bhaskar

कैप्टन वरुण सिंह का जन्म दिल्ली में हुआ था, उनकी उम्र 42 साल थी। उनके पिता कृष्ण प्रताप सिंह सेना में कर्नल पद से रिटायर्ड हुए थे। वरुण के छोटे भाई तनुज सिंह मुम्बई में नेवी में हैं। उनकी पत्‍नी गीतांजली एक बेटा रिद रमन और बेटी आराध्या हैं।