चायवाले ने शराब छोड़कर बेटी की ज़िद पर ख़रीदा मोबाइल, फिर शहरवालों के सामने से निकाली 'मोबाइल बारात'

 | 
mobile barat

एक मोबाइल फ़ोन ख़रीदने के बाद आप कितने ख़ुश होते हैं, दोस्तों को समोसा-चाय पार्टी दे सकते हैं या फिर ख़ुद को ही पिज़्ज़ा ट्रीट दे सकते हैं।  लेकिन मध्य प्रदेश का एक चायवाला हम सबसे आगे निकल गया। एक चायवाला मोबाइल ख़रीदने के बाद इतना ख़ुश हुआ कि शहरवालों के सामने से घोड़ी-बग्घी, ढोल आदि के साथ 'मोबाइल बारात' निकाल दी।  

mobile barat

अमूमन बारात शादियों में निकलती है या धार्मिक कार्यकर्मो में लेकिन, क्या आपने ऐसी ढोल नगाड़े, बग्गी और आतिशबाजी देखी हैं जो मोबाइल खरीदने की खुशी में निकली जाए। ऐसा ही किया शिवपुरी के नीलगर चौराहा पुरानी शिवपुरी के मुरारी चाय वाले ने। खास बात यह है कि मुरारीलाल ने 12 हजार 500 रुपए के मोबाइल को घर तक लाने में 15 हजार रुपए खर्च किए। 

बेटी के लिए चायवाले ने निकाली मोबाइल की बारात

mobile barat
Image Source: Dainik Bhaskar

पुरानी शिवपुरी के गुरुद्वारे के पास रहने वाले मुरारीलाल चाय बेचते हैं। उन्हें शराब पीने की लत थी। उनकी 8 साल की बेटी प्रियंका ने जब मोबाइल खरीदने की जिद की, तो मुरारी ने पैसे न होने की बात कही। इस पर बेटी ने कहा कि शराब पीना कम कर दो, उन रुपयों से मोबाइल ले आओ। बस फिर क्या था! बेटी की बाते पिता को जहन कर गई। और उन्होंने मोबाइल फाइनेंस कराया और बेटी के लिए धूम-धाम से उसे घर लेकर आए।

बारात निकालने में ख़र्च किए 15,000

mobile barat
Image Source: Dainik Bhaskar

मुरारीलाल ने बेटी का ख्वाब पूरा करने के लिए 12 हजार 500 रुपए में फाइनेंस पर मोबाइल खरीदा। मोबाइल खरीदने की खुशी इतनी थी कि 15 हजार रुपए बग्घी डीजे से मोबाइल की 'बारात' निकाल डाली।बग्घी पर बच्‍चे बैठे। उनके हाथ में मोबाइल था।


बता दें कि इससे पहले भी मुरारी लाल एक मंदिर के लिए एक हजार रुपए का पंखा व 2100 रुपए का घंटा खरीद कर लाया था। इन दोनों को भी वह भांगड़े और बग्गी पर लाया था। इस पर 10 हजार रुपए का खर्च हुआ था।

मोबाइल ख़रीदने के बाद बैंड-बाजा, बग्घी-घोड़ी और पटाखों के साथ मुरारीलाल और नाचते-गाते हुए मोबाइल फ़ोन को घर ले आए। मुरारीलाल की 'मोबाइल बारात' शहरभर मे चर्चा का विषय बनी हुई है।