500 रुपयों से शुरुआत कर बने अरबपति और एक झटके में डूब गया सारा बिजनेस...हुए कर्जदार!

 | 
b r shetty story

कहते हैं हर किसी का वक्त होता है। भगवान जिसे देता है छप्पड़ फाड़ के देता है। इसके साथ-साथ ये भी देखा होगा कि किस्मत जब छीनने पर आती है तो इंसान के पैरों के नीचे की ज़मीन तक छिन लेती है। लेकिन आज जिस शख्स की कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं उसने सफलता की चढ़ाई भी देखी और अपने बर्बाद होने की ढलान भी। तो आइये सुरु करते है कहानी। 

500 रुपयों से की अरवो के बिजनेस की शुरुआत!

हम जिस शख्स की कहानी आज आपको बताने जा रहे है उसका नाम है बी आर शेट्टी। 1 अगस्त 1942 को कर्नाटक के उडुपी जिले के कापू शहर में जन्मे बावागुत्थु रघुराम शेट्टी यानी बी आर शेट्टी। शेट्टी का जन्म एक साधरण परिवार में हुआ था।  इनका परिवार भी भारत के उन लाखों परिवारों जैसा था, जिनके घर की दाल रोटी तो अच्छे से चल रही होती है लेकिन किसी ज़रूरतों के समय उन्हें कहीं ना कहीं हाथ फैलाने ही पड़ते हैं। 

br shetty story
Image Source: forbesindia

लेकिन शेट्टी के सपने कुछ बड़े थे, इतने बड़े कि उनको पूरा करने के लिए बह सन 1973 में भारत छोड़ दुबई पहुँच गए। कहा जाता है कि जब शेट्टी भारत से दुबई गए, तो उनके जेब में 500 रुपये भी नहीं थे। दुबई पहुंचे बीआर शेट्टी की शुरुआत बहुत छोटे से हुई, यानी मेडिकल रिप्रेज़ेंटेटिव (MR) के रूप में। इस नौकरी को करने में उन्होंने दिन-रात मेहनत की। 

इसी के साथ मेडिकल से जुडी जानकारियां भी जुटाने लगे। यानी मेडिकल बिजनेस होता कैसे है? फार्मास्यूटिकल्स साइंस में अपनी पढ़ाई पूरी करने वाले शेट्टी ने अपने इस नए काम में जी जान लगा दी। कामयाबी पाने की ललक उनमें शुरू से थे और इस कामयाबी के आगे उन्होंने किसी कठिनाई को रोड़ा नहीं बनने दिया। 

br shetty Story
Image Source: brighamandwomens

बक्त बदला और बी आर शेट्टी ने चंद्रा कुमारी शेट्टी से शादी कर ली। चंद्रा एक डॉक्टर थीं और ये बात शेट्टी के आगे बढ़ने में मददगार साबित हुई। जिसके बाद उन्होंने जल्द ही हेल्थकेयर कंपनी न्यू मेडिकल हेल्थकेयर (NMC) की स्थापना की।  इसके बाद वो सफलता की सीढ़ियां चढ़ते चले गए। 

एक बक्त ऐसा आया कि 8 डॉलर लेकर दुबई जाने बाले इस शख्स के पास बह सबकुछ था जो एक इंसान की चाहत से भी दूर होती है। बोले तो- बुर्ज़ ख़लीफ़ा में दो फ़्लोर. 7 रोल्स-रॉयस कारें, कई और विंटेज गाड़ियां। एक गल्फ़स्ट्रीम G450 प्राइवेट जेट, जिसकी क़ीमत तीन सौ करोड़ रुपये के क़रीब होगी। वग़ैरह-वग़ैरह…

दुबई से लेकर भारत तक फैलाया बिजनेस 

जब 2012 में अपनी दुबई बेस्ड कंपनी NMC हेल्थ का लंदन स्टॉक एक्सचेंज (LSE) में IPO लेकर आए तो धमाल मच गया। इससे पहले LSE में किसी विदेशी कंपनी के IPO को ऐसी धमाल ओपनिंग कम ही नसीब हुई थी। हेल्थ फेसिलीटी के बिज़नेस में काम जमाने के बाद शेट्टी ने मनी एक्सचेंज बिज़नेस की ओर अपना कदम बढ़ाया। जिसके देखते ही देखते हज़ारों ग्राहक बन गये। 


सफलता मिलने के इस दौर में शेट्टी ने हेल्थकेयर, फाइनेंशियल सर्विसेज, हॉस्पिटेलिटी, फूड ऐंड बीवरेज, फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरिंग तथा रियल ईस्टेट के क्षेत्रों में भी अपने व्यापार को बढ़ाया।


इसके बाद शेट्टी ने 2018 में अपनी दो बड़ी कंपनियों के साथ अपने अन्य कारोबार को फिनब्लर के साथ मिल कर सार्वजनिक कर दिया। उस समय वह सफलता के शिखर पर थे।  2019 में फोर्ब्स द्वारा उन्हें दुनिया के भारतीय अरबपतियों में 42वां स्थान दिया गया था। उनकी कुल सम्पत्ति 4.2 बिलियन डॉलर आंकी गई थी। 


इसके बाद शेट्टी ने भारत का रुख किया और यंहा अपने पैर पसारने सुरु कर दिए। इसके अलावा शेट्टी ने 2018 में भारत का पहला सेवन स्टार हॉस्पिटल सेवन हिल्स हॉस्पिटल भी खरीदा। सुर सैकड़ो बिजनेस में इन्वेस्ट करके बह इंडिया में भी छा गए। तस्वीरो में उनकी मुलाकात भारतीय नेताओ के साथ देखि जा सकती है। 

एक रिपोर्ट छपी और फूटी किस्मत!

2005 में दुबई के सबसे काबिल नागरिक का सम्मान पाने वाले, अरबों की सम्पत्ति बनाने वाले, 8 डॉलर से कामयाबी की ऊंचाइयां छूने वाले तथा 2009 में पद्मश्री जीतने वाले बी आर शेट्टी की ज़िंदगी एक रिपोर्ट के कारण पूरी तरह हिल गई। 16 दिसंबर, 2019 को ‘मडी वॉटर्स’ ने NMC हेल्थकेयर की ख़राब फाइनेंशियल हेल्थ की ख़बर सार्वजानिक कर दी। 

BR Shetty
Image Source: Social Media

मड्डी वाटर रिसर्च के फाउंडर तथा शॉर्ट सेलर कारसन ब्लॉक ने अपनी एक रिपोर्ट में एनएमसी हेल्थ पर संपत्ति का फर्जी आंकड़ा देने तथा कंपनी की संपत्तियों की चोरी का आरोप लगाया। यानी रिपोर्ट में कहा गया कि शेट्टी की कंपनी की कीमत से ज़्यादा सम्पत्ति बताई गई है। इसके अलावा उन पर फर्जीवाड़े के आरोप भी लगे। 

शेट्टी की अर्श से फ़र्श तक की कहानी

घोटालो की खबरें अखबारों में छपीं और शेट्टी की सम्पत्ति पर जांच शुरू हो गई। इन आरोपों के बाद शेट्टी से एनएमसी हेल्थ के निदेशक मंडल के फैसले लेने के अधिकार तत्काल प्रभाव से छीन लिए गए। बहरहाल ‘मडी वॉटर्स’ की इस रिपोर्ट के चलते NMC डूबना शुरू हो गई। 


कंपनी के शेयर धड़ाधड़ गिरने लगे। इसी बीच एनएमसी हेल्थ को लंदन स्टॉक एक्सचेंज की लिस्ट से हटा दिया गया। और सभी बैंक खाते भी सील कर दिए गए।  बताया गया कि शेट्टी की कंपनियां पांच अरब डॉलर के कर्ज में डूबी हैं। इसके साथ ही बोर्ड की तरफ से शेट्टी के इस्तीफे की मांग उठाने लगी और इसी साल 17 जनवरी को उन्होंने सह-अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। 


हालाँकि बी आर शेट्टी की तरफ से मड्डी वाटर्स की रिपोर्ट को फर्जी भी बताया गया। मडी वॉटर्स’ का मालिक कार्सन ब्लॉक भी अतीत में यही करता था। मतलब वो किसी कंपनी में शॉर्ट पोजिशन बनाता, फिर उसकी वित्तीय स्थिति के बारे में बुरी ख़बर डालकर पैसे कमाता। यानी यह उसका पेशा था। 

करोडो की कंपनी मात्र 73 रूपये में बेचनी पड़ी 

br shetty story
Image Source: economictimes

खैर कारण भले चाहे जो भी हो लेकिन अहम बात ये है कि कभी फर्श से अर्श की चढ़ाई करने वाले बी आर शेट्टी अब अर्श से फर्श की ओर तेजी से बढ़ते नज़र आ रहे हैं। हालात ऐसे हो गए कि 14 हजार करोड़ से अधिक की मार्केट वैल्यू वाली शेट्टी की कंपनी फिनाब्लर को एक साल के भीतर ही महज 73 रुपये में बेचना पड़ा।

आजकल कंहा है मिस्टर शेट्टी? 

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मिस्टर शेट्टी इन दिनों भारत में हैं। 14 नवंबर, 2020 को वो UAE जा रहे थे, लेकिन उन्हें एयरपोर्ट पर रोक दिया गया। कारण, शेट्टी भारत में भी कानूनी दिक़्क़तों में फ़ंसे हुए हैं। उन पर भारतीय बैंक ने भी केस कर रखा है, जिसकी बजह से बह विदेश नहीं जा सकते। जब तक बैंक से सेटलमेंट ना हो जाए।