अल्ताफ़ की मौत पर यूपी पुलिस थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

 | 
police custody

सुरक्षा आपकी संकल्प हमारा, ये उत्तर प्रदेश पुलिस का मोटो है। उसी यूपी पुलिस ने कासगंज में 8 नवंबर को एक 21 साल के लड़के को उसके घर से उठा लिया।  लड़का सही सलामत पुलिस को मिला, लेकिन 9 नवंबर को परिवार को मिली एक लाश। और पुलिस के आला अधिकारियों का ऐसा बहाना, जिससे बेहतर पांचवीं के बच्चे होमवर्क भूल जाने पर बना लेते हैं। 

अल्ताफ़ के परिजनों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया है, जबकि पुलिस अधिकारियों के मुताबिक़, युवक ने लॉकअप के टॉयलेट में फांसी लगाई। उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां चंद मिनट चले इलाज के बाद अल्ताफ़ की मौत हो गई। ये जानकारी सामने आई तो बवाल मच गया। 

पुलिस की थ्योरी पर उठे सवाल


अल्ताफ एक बहुत साधारण सा लड़का था. घरों में टाइल लगाने का काम करता था। अल्ताफ के पिता केंद्र या राज्य में मंत्री भी नहीं थे। इसीलिए तो जब एक परिवार ने अपनी बेटी खोने के संबंध में अल्ताफ का नाम लिया, तो पुलिस अल्ताफ को उसके घर से उठाकर कासगंज की नदरई गेट चौकी ले गई। जंहा उसकी मौत हो गई। अल्ताफ की मौत के पीछे पुलिस ने जो थ्योरी बताई है उसने लोगों का विशेष रूप से ध्यान खींचा है। 


इस दिलचस्प थ्योरी के मुताबिक अल्ताफ ने लॉकअप में बने टॉयलेट के अंदर लगे नल में अपनी जैकेट के हुड में लगी डोरी को फंसाया और अपना गला घोंटने की कोशिश की। यानी एक नाड़े से अल्ताफ ने खुदकुशी कर ली, ऐसा पुलिस का कहना है। 

फोटो ने खोल दी यूपी पुलिस की पोल!

कासगंज सदर कोतवाली के जिस वॉशरूम में अल्ताफ मिला, उसकी तस्वीरें  सोशल मीडिया पर भी कई लोगों ने शेयर किया है। जो फोटो सामने आई है, इसमें दिख रहा है कि टॉयलेट में लगा नल प्लास्टिक का है और जमीन से केवल दो फीट की ऊंचाई पर दीवार से फिक्स है।  


लोग सवाल कर रहे हैं कि कोई इंसान प्लास्टिक के पाइप वाली 2 फीट ऊंची टोंटी में फंदा लगाकर कैसे अपना गला घोंट सकता है। कुछ ट्वीट देखिए, जिनमें लोगों ने पुलिस पर सवाल उठाए हैं और उसकी थ्योरी पर तंज भी कसे हैं। 

यंहा देखिये वायरल हो रहे ट्वीट्स 


अल्ताफ की मौत किन परिस्थितियों में हुई, और वो आत्महत्या थी या हत्या, ये अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फॉरेंसिक जांच से ही मालूम चलेगा। फ़िलहाल आपको बता दे, अल्ताफ के पिता चाहत मियां ने कासगंज पुलिस पर उनके बेटे की हत्या करने का आरोप लगाया है।