आडवाणी की सुरक्षा में तैनात NSG कमांडो की सड़क हादसे में मौत, दिवाली छुट्टी पर आये थे घर

 | 
advani s security nsg commando

दीपावली की रात जेएमपी रेलवे ओवरब्रिज पर भारी वाहन की चपेट में आने से भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सह पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी की सुरक्षा में तैनात एनएसजी कमांडो के जवान 31 वर्षीय पोरेस बिरूली की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, पोरेश गुरुवार की शाम को 3 दिन की छुट्टी पर घर पहुंचे थे। दुर्घटना का शिकार हुए सभी लोग दिवाली मनाने गए थे। 

जानकारी के अनुसार, पोरेश गुरुवार की शाम को 3 दिन की छुट्टी पर घर पहुंचे थे और परिवार और बच्चों के साथ दिवाली में पटाखे भी फोड़े, फिर अपने ममरे भाई के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर किसी दोस्त से मिलने निकल गये। इसी दौरान युवक मोटरसाइकिल से बस स्टैंड की ओर से रेलवे ओवरब्रिज पार कर रहे थे। इसी दौरान भारी वाहन की चपेट में आ गए। जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई।

एनएसजी कमांडो की हैं दो छोटी बेटियां

advani s security nsg commando
Image Source: NBT

एसडीपीओ ने बताया कि बिरुली वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी की सुरक्षा में लगी टीम के सदस्य थे और तीन दिन की छुट्टी पर दिवाली मनाने आए थे। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही उनकी पत्नी शुरू बिरूली, बहन और भाई के साथ-साथ गांव के लोग सदर अस्पताल पहुंच गये। 

पोरेश की दो बेटियां हैं। एक सात साल की और दूसरी 4 साल की। पोरेश बिरूली की पत्नी शुरू झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी में प्रोग्राम ऑफिसर के रूप में कार्यरत हैं। बताया जा रहा है कि पोरेस बिरूली दीपावली की छुट्टी मनाने के लिए गुरुवार संध्या 6 बजे ही दिल्ली से चाईबासा पहुंचे थे। 

nsg commando
Image Source: Social Media (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

इसके बाद अपने मामा का बेटा भाई राजू तियु के साथ मिलकर चाईबासा घूमने के लिए आये हुए थे। घूमकर लौटने के दौरान रेलवे ओवरब्रिज पर अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दोनों की मृत्यु हो गई। घरबालो को पूरी रात कोई पता नहीं चला। सुबह दुर्घटना के बारे में जानकारी मिली।

बाइक सवारी लेकिन नहीं पहना था हेलमेट

nsg commando
Image Source: Dainik Jagran

मीडिया खबरों के अनुसार, मृतक दोनों युवको ने किसी तरह का कोई हेलमेट नहीं पहना हुआ था। ऐसे में बाइक सवार फ्लाइओवर से गुजर रहे थे, इसी दौरान एक भारी वाहन की चपेट में आने से उन्होंने बाइक पर से अपना संतुलन खो दिया , जिसके बाद बाइक सहित काफी दूर घिसटते हुए चले गए। सर में गंभीर चोट लगी, और मौके पर ही दम तोड़ दिया। 

नो एंट्री में शहर के अंदर कैसे घुसा ट्रक?

यह हादसा दीपावली की रात उस समय हुआ जब शहर में नो एंट्री लगी थी। दीपावली के कारण रातभर भारी वाहनों के लिए नो एंट्री रखी गई थी। तो परिजनों का बड़ा सवाल है कि ट्रक को शहर के अंदर एंट्री कैसे मिल गई। परिजनों की नाराजगी भी इस बात पर देखि गई।