अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाते हुए गोरखनाथ मंदिर में घुसने बाला मुर्तजा निकला IIT इंजीनियर!

 | 
gorakhpur news

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) स्थित गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Temple) की सुरक्षा में तैनात सिपाहियों पर एक मुस्लिम युवक द्वारा हमला करने का मामला सामने आया है। फ़िलहाल सुरक्षा कर्मियों ने हमलावर को पकड़ लिया। पकड़े गए हमलावर के पास से लैपटाप, पैन कार्ड और एयरलाइंस का टिकट बरामद हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,  घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि युवक ने धार्मिक नारेबाजी करते हुए धारदार हथियार से हमला किया। जवानों पर हमला करने वाले युवक को मंदिर के कर्मचारियों और बाकी पुलिसकर्मियों ने पकड़ लिया, इस दौरान हमलवार भी घायल हो गया। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

रविवार की शाम क्या हुआ?

घटना रविवार, 3 अप्रैल की है। शाम करीब 7 बजे गोरखनाथ मंदिर के मुख्य गेट पर एक युवक पहुंचा। इस दौरान, गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में लगी पीएसी की 20वीं बटालियन, आजमगढ़ में तैनात सिपाही गोपाल कुमार गौड़ और अनिल कुमार पासवान की डयूटी थाने के सामने मुख्य दक्षिणी गेट पर थी। पीएससी के जवानों ने उसे तलाशी के लिए रोक लिया। 

 

 


इस दौरान युवक ने मुख्य गेट पर तैनात सिपाही गोपाल कुमार के करीब पहुंचा और उनकी एसएलआर राइफल (स्वचलित हथियार) छीनने की कोसिस की। साथ ही युवक ने धारदार हथियार से जवानों पर हमला कर दिया।  युवक ने सिपाही गोपाल गौड़ के पैर पर और अनिल पासवान के हाथ और पीठ पर हमला किया। 


अन्य सुरक्षाकर्मियों को करीब आता देखकर हमलावर अल्ला-हू-अकबर का नारा लगाते हुए मंदिर गेट के अंदर घुस गया। अचानक हुए इस हमले में आसपास खड़े दूसरे सुरक्षाकर्मियों ने युवक को लाठी से रोकने की कोशिश की, साइकिल स्टैंड गेट के सामने पिकेट के पास सिपाही अनुराग, अनिल ने उसे दबोच कर हिरासत में ले लिया। 

घटना पर पुलिस ने क्या कहा?

सुरक्षाकर्मियों पर हमले की खबर फैलते ही पुलिस-प्रशासन के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे। घटना के बारे में जानकारी देते हुए गोरखपुर के एडीजी अखिल कुमार ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में पता चल है कि हमलावर का नाम अब्बाशी अहमद मुर्तजा है। पकड़ा गया आरोपित मोहम्मद मुर्तजा अब्बासी सिविल लाइंस के पार्क रोड स्थित अब्बासी नर्सिंग होम के पास का रहने वाला है। 


इस पूरे प्रकरण की गहराई से जांच की जरूरत है। इस घटना के दौरान ये युवक धार्मिक नारे भी लगा रहा था। इस प्रकरण से किसी भी ऐंगल को रूलआउट नहीं किया जाएगा, आतंकवाद की दृष्टि से भी जांच की जाएगी। घटना के बाद गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

पुलिस घायल हमलावर से इलाज के बाद पूछताछ करेगी। आइआइटी मुंबई से केमिकल इंजीनियङ्क्षरग की पढ़ाई करने वाले मुर्तजा के पिता से पुलिस पूछताछ कर रही है। एटीएस दस्ते और इंटेलीजेंस डिपार्ट्मेंट को सूचित कर दिया है। जिला पुलिस, एटीएस और इंटेलीजेंस की जॉइन्ट टीम इस मामले की जांच करेगी। 


इस दौरान एडीजी अखिल कुमार ने बताया कि युवक रविवार, 3 मार्च की सुबह ही मुंबई से लौटा है। फिलहाल युवक ने हमला क्यों किया इसका पता नहीं चल सका है। युवक की मानसिक हालत की भी जांच की जा रही है।