100 साल की उम्र में 200 किलो सब्जी लादकर गली-गली घूमते हैं, ताकि अनाथ पोता-पोती का पेट भर सकें

 | 
harbans singh

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक सब्‍जी बेचने वाले वृद्ध का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। जिसे देखकर आपकी आंखों से भी आंसू निकल आएंगे। ये वीडियो है हरबंस सिंह का, जिनकी उम्र 100 साल है। इसके बावजूद वह रिक्शा पर आलू और प्याज लादकर बेचने के लिए सड़क पर इधर-उधर घूमते हैं। 

पंजाब के मोगा के रहने वाले 100 वर्षीय हरबंस इस उम्र में इसलिए कर रहे हैं ताकि वो अपनी पोतियों को पढ़ा सके और अपने परिवार का पेट पाल सकें। जिनके पिता की मौत के बाद उनकी मां उन्हें अनाथ छोड़कर चली गई। 

यंहा देखिये वायरल वीडियो:-


100 साल की उम्र में 200 किलो ढोते है बजन 

harbans singh

हरबंस सिंह की उम्र 27 साल थी जब उनका परिवार विभाजन आग में लाहौर के एक गांव में स्थित अपने घर को छोड़ आया था। हरबंस सिंह ने बताया कि उनका दो बेटे हैं एक वर्षों पहले परिवार से अलग हो गया और जो दूसरा बेटा था उसकी दो साल पहले उसकी मौत हो गई।

harbans singh

जिसके बाद उसकी पत्‍नी अपनी दो बेटियों को अनाथ छोड़कर कर घर छोड़कर चली गई। जिसके बाद से हरबंस सिंह अपनी पोतियों को पालने के लिए हर दिन लगभग दो सौ किलो आलू और प्‍याज ठेले पर लादकर गली-गली में बेचने जाते हें। 

harbans singh

हरबंस 18 साल तक पट्टेदार का काम किया लेकिन 40 साल पहले उन्‍होंने सब्जी बेचना शुरू किया था लेकिन जब बेटा कमाने लायक हो गया तो उन्‍होंने सब्जी बेचना छोड़ दिया लेकिन बेटे की मौत के बाद 100 साल की उम्र में मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा और फिर से हरबंश सिंह सब्जी का ठेला लगाने लगे।

harbans singh

उन्‍होंने कहा जब तक है जान है तब तक अपने पोते- पोतियों को पढ़ाने और उनका पेट पालने के लिए ये काम करता रहूंगा हरबंस ने कहा मैं किसी के आगे हाथ नहीं फैलाउंगा। 

लोग करना चाहते हैं मदद

harbans singh


बता दें, ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ ने इस वीडियो को शेयर किया। उन्होंने कैप्शन में लिखा, ‘100 साल का आदमी अपने अनाथ पोते-पोतियों का पेट भरने के लिए रिक्शा पर सब्जी बेचता है।’ वीडियो वायरल होने पर लोग उनकी मदद के लिए आगे आए हैं। नीचे देखिये लोगो की प्रतक्रिया। 

पंजाब सीएम ने किया मदद का ऐलान 


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरबंस सिंह के धैर्य और कड़ी मेहनत की सराहना की, जो इस उम्र में अपने और अपने पोते-पोतियों के लिए सब्जी बेच रहे हैं। मुख्यमंत्री ने हरबंस सिंह को तत्काल 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और उनके पोते-पोतियों को शिक्षा की सुविधा देने की भी घोषणा की।