शिक्षा संघर्ष की कहानी: नन्ही सी जान के एक हाथ में कलम, दूसरे में छोटी बहन की जिम्मेदारी!

 | 
sister love

छोटे बच्चों को भगवान का रूप माना जाता है। उनकी मासूमियत और प्यार की तुलना किसी चीज से नहीं हो सकती है। कुछ बच्चे छोटी उम्र से ही खुद को संभाल लेते हैं तो कई बच्चे पारिवारिक मजबूरी के चलते अपने छोटे भाई-बहनों को संभालने लगते हैं। ऐसा ही एक मामला मणिपुर में सामने आया है जहां एक छोटी बच्ची अपनी छोटी बहन को गोद में लेकर स्कूल पहुंच गई। 

बच्ची अपनी बहन को गोद में लेकर जाती है स्कूल!


सोशल मीडिया पर जिस बच्ची की तस्वीर वायरल हुई उस बच्ची की उम्र महज 10 साल की है, लेकिन बह अपने साथ-साथ अपनी बहन और परिवार की भी जिम्मेदारी  उठाती है। वायरल तस्वीर के अनुसार, बच्ची का नाम मीनिंगसिन्लिउ पमेई है और बह कक्षा 4 की स्टूडेंट्स है। उसने ऐसा क्यों किया? यह भी खबर थोड़ा भावुक कर देती है। 

बच्ची के माँ बाप करते है मजदूरी!

जब बच्ची की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो इसने मणिपुर के बिजली, वन और पर्यावरण मंत्री बिस्वजीत सिंह का ध्यान आकर्षित किया। लड़की की मदद करने का वादा करते हुए मंत्री ने ट्वीट कर जानकारी दी, कि:-

"शिक्षा के प्रति उसके समर्पण ने मुझे चकित कर दिया! तामेंगलोंग, मणिपुर की मीनिंगसिनलिउ पमेई नाम की यह 10 वर्षीय लड़की अपनी छोटी बहन की देखभाल के लिए उसे अपने साथ स्कूल ले जाती है, क्योंकि उसके माता-पिता खेती और पढ़ाई करने के लिए घर से बाहर चले जाते हैं।"


जी हां, यह बच्ची चौथी कक्षा में पढ़ती है, और अपनी छोटी बहन से इतना प्यार करती है कि मां-बाप की गैर-मौजूदगी में वो उसे घर पर अकेला छोड़ने के बजाय अपने साथ स्कूल ले गई, ताकि उसकी देखभाल कर सके। 

अब मंत्री ने दिया मदद का अस्वासन 

वंही मंत्री ने आगे लिखा, कि पमेई की मदद करने के लिए उन्होंने लड़की के रिश्तेदारों से संपर्क किया और उनसे मिलने के लिए उसे इम्फाल लाने के लिए कहा। उसके परिवार से बात की कि मैं व्यक्तिगत रूप से उसके स्नातक होने तक उसकी शिक्षा का ध्यान रखूंगा। उसके समर्पण पर गर्व है!


बता दें, उनकी पोस्ट को अबतक 16 हजार से अधिक लाइक्स और 3 हजार से ज्यादा रीट्वीट्स मिल चुके हैं। साथ ही, सैकड़ों यूजर्स ने प्रतिक्रिया देते हुए बच्ची के जज्बे को सैल्यूट कर रहे हैं।

लोग कर रहे हैं सराहना!

viral bacchi

आपको बता दे, वायरल बच्ची फिलहाल बच्ची डैलॉन्ग प्राइमरी स्कूल में पढ़ रही है। और बह उत्तरी मणिपुर के तामेंगलोंग जिले की रहने बाली है। वंही सोशल मीडिया पर यूजर्स लड़की की हिम्मत और मेहनत को सलाम कर रहे है।