क्या मुरादाबाद में होटल ने AIMIM प्रमुख को कमरा देने से किया इनकार? जानिए क्या है सच्चाई!

 | 
owaisi

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) को मुरादाबाद के एक होटल ने ठहराने से मना कर दिया, ऐसा एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमे दावा किया जा रहा है कि ओबैसी को कमरा देने से होटल ने इंकार कर दिया। लेकिन जब कुछ मीडिया संस्थान ने इसकी पड़ताल की तो घटना कुछ और ही निकल कर सामने आई। क्या है पूरा मामला? आइये आपको बताते है। 

ओबैसी को होटल मालिक ने कमरा देने से किया इनकार?

तमाम सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) यूपी के अध्यक्ष शौकत अली को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक होटल के रिसेप्शन पर बहस करते हुए देखा जा सकता है। 2.20 मिनट के वीडियो में, AIMIM उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष शौकत अली को होटल के रिसेप्शन पर बैठे व्यक्ति के साथ तीखी बहस करते और फिर उसके बाद अपनी पार्टी के सदस्यों के साथ परिसर से निकलते हुए देखा जा सकता है। 


गुस्से में नजर आ रहे शौकत अली परिसर से बाहर निकलते समय फोन पर बात करते हैं। थोड़ी देर बाद AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी होटल में घूमते नजर आते हैं। परिसर से बाहर निकलने और अपनी कार में बैठने से पहले कुछ समय के लिए उन्हें रिसेप्शन एरिया में प्रतीक्षा करते देखा जा सकता है।

क्या है वायरल वीडियो की सच्चाई 

हिंदुस्तान में छपी एक खबर अनुसार, मुरादाबाद में दिल्ली रोड स्थित होटल ड्राइव इन 24 मे उनकी पार्टी के लोग जब वहां पहुंचे और पहले से बुक कमरों के बारे में बताया तो ओवैसी का नाम आने पर होटल वालों ने परमिशन लाने को कहा और रूम नहीं दिया।

होटल के मैनेजर विपुल ने बताया कि नियमानुसार राजनीतिक व्यक्तियों के लिए परमिशन आवश्यक है। जब परमिशन मुझे मिल जाएगी तो मैं रूम देने के लिए तैयार हूं। किसी व्यक्ति विशेष को लेकर कमर ना देने जैसी कोई बात नहीं है। हम लोग नियम कानून के तहत ही काम करते हैं।

इसके बाद ओवैसी को कमरे ना मिलने की बात को ट्विटर पर भी कुछ लोगों ने ट्वीट किया इसके बाद यह चर्चा का विषय बन गया। जो कि पूर्णतः गलत है। 

क्यूंकि होटल मालिक ने जाति विशेष के तौर पर नहीं बल्कि क़ानूनी तौर पर ओबैसी को रोका था। जिसके बाद, क़ानूनी परमिशन मिल गई और होटल ने कमरा दे दिया। ऑपइंडिया की फैक्ट चेक में भी इस बात का खुलासा हुआ है कि अरविंद सिंह कठेरिया नाम के एक होटल कर्मचारी ने बातचीत में बताया कि ओबैसी को होटल में कमरा दिया गया था। 

कर्मचारी ने बताया कि, ओबैसी की टीम 4 जनवरी से 6 जनवरी तक होटल में रुकी थी। साथ ही उन्होंने मीडिया में चल रही खबरों का खंडन किया कि ओवैसी को होटल में कमरा देने से मना कर दिया गया।