कोलकाता: लोकल ट्रेन में नमाज़ पढता नमाजी का वीडियो वायरल, लोग बोले- ये कौन सा जिहाद?

 | 
local train namaj

सोशल मीडिया पर एक आदमी के लोकल ट्रेन में नमाज़ पढ़ने का वीडियो वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो मुंबई लोकल ट्रैन का है, लेकिन इसकी सच्चाई कुछ और है। दावा है कि ये वीडियो मुंबई लोकल ट्रेन का है जहां एक आदमी सीट पर नमाज़ पढ़ रहा है। साथ ही दावे में पूछा जा रहा है कि ये किस तरह का जिहाद है?

वायरल वीडियो यंहा देखिये 

बॉलीवुड फ़िल्ममेकर अशोक पंडित ने वायरल वीडियो को ट्वीट कर लिखा, "मैंने मुंबई की लोकल ट्रेनों में भजनों पर प्रतिबंध लगाने के रेलवे अधिकारियों के फैसले का समर्थन किया था। मैं अब लोकल ट्रेन में नमाज अदा करने के इस कृत्य की निंदा करता हूं।"


अशोक पंडित अकेले नहीं है, दिल्ली बीजेपी प्रबक्ता खेमचंद शर्मा वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट ट्वीट करते हुए शिवसेना सरकार पर खूब बरसे। उन्होंने अंग्रेजी में लिखा, "मुंबई में चलती लोकल ट्रेन में मुस्लिम पैसेंजर ने नमाज अदा की। नमाज़ के लिए सीट पर भी खड़े हो गए, एक स्टॉप से ट्रेन में चढ़े यात्रियों को सीट खोजने के लिए हाथापाई करनी पड़ी।"


क्या है वायरल वीडियो की सच्चाई?

दरअसल वायरल वीडियो में दिखाई दे रहा सख्स नमाज पढ़ रहा है, ये बात बिल्कुल सच है। लेकिन वीडियो मुंबई लोकल ट्रेन का है ये बात बिल्कुल गलत है। क्यूंकि यह वायरल वीडियो मुंबई नहीं कोलकाता का है। जिसकी पड़ताल खुद THE Lallantop और न्यूज़ चेकर वेबसाइट ने किया है। 

park circle station

फैक्ट चेक के अनुसार,  पड़ताल में वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला। वीडियो मुंबई नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल में कोलकाता शहर का है। क्यूंकि वायरल वीडियो को गौर से सुना गया। वीडियो में 30 सेकेंड पर एक अनाउंसमेंट सुनाई देता है, जिसमें कहा जाता है कि – ‘ये पार्क सर्कस स्टेशन है।’

फैक्ट चेक के अनुसार, गूगल पर सर्च करने पर पता चला कि पार्क सर्कस स्टेशन कोलकाता में मौजूद एक रेलवे स्टेशन है। ये सियालदह रेलवे डिवीज़न के अंतर्गत आता है। मुंबई में अभी पार्क सर्कस नाम से कोई भी रेलवे स्टेशन नहीं है। साथ ही वीडियो में दिख रहे यात्री हिंदी या मराठी नहीं बल्कि बांग्ला भाषा में बात कर रहे हैं।  ट्रेन रुकने पर जो लोग ट्रेन में चढ़ते हैं, वो भी बांग्ला भाषा बोल रहे हैं।