खुशखबरी: गाड़ियों का अब BH यानी भारत वाला नंबर... DL, HR, UP झंझट खत्म, जानें प्रोसेस

 | 
Bh Number Plate registration

सड़क पर चलते वक्त गाड़ी का नंबर प्लेट देख आप अंदाजा लगा लेते हैं कि यह गाड़ी कहां की है। हर राज्य के अपने कोड हैं. उत्तर प्रदेश का UP, दिल्ली का DL, मध्य प्रदेश का MP देख वह किस राज्य की गाडी है पता चल जाता है। लेकिन, जल्द ही आपको सड़कों पर एक खास सीरीज की गाड़ी का नंबर दिखेगा, जिससे आप ये भी नहीं पता कर सकते हैं कि गाड़ी किस राज्य की है। 

मीडिया खबरों के अनुसार, अब आपको जल्द ही सड़कों पर एक खास सीरीज के नंबर प्लेट की गाड़ी दिखेगी जिसकी शुरुआत BH से होगी। इस सीरीज के नंबर की गाड़ी जिसके पास होगी उसे किसी दूसरे राज्य में जाने पर आरसी ट्रांसफर की जरूरत नहीं पड़ेगी। ये पूरे देश में मान्य होगा। 

vehicle registration
Image Source: India Times

इस सीरीज के लिए कौन अप्लाई कर सकता है, कितनी रकम खर्च करनी पड़ेगी, जानिए इस नंबर प्लेट से जुड़े सारे सवालों के जवाब:-

दूसरे राज्यों में नहीं होगी दिक्कत 

ट्ट्रांसपोर्ट नियमो के मुताबिक दूसरे राज्य की गाडी अगर आप अपने राज्य में चला रहे है तो उसका रजिस्ट्रेशन नंबर आपको 12 माह के अंदर अपने राज्य में दर्ज कराना होता है, नहीं तो क़ानूनी कार्यबाही हो सकती है। लेकिन BH सीरीज की गाड़ी के लिए किसी दूसरे राज्य में भी जाने पर ट्रांसफर नहीं कराना होगा। 

इस सीरीज का नंबर लेने के बाद एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने पर अब वहां आपको अपनी गाड़ी का फिर से रजिस्ट्रेशन कराने के झंझट से राहत मिल जाएगी। खबरों के मुताबिक मंत्रालय के यह नियम 15 सितंबर से लागू होंगे। इसके रजिस्ट्रेशन के नियम और फीस भी तय कर दी गई है।

ऐसा होगा नई BH सीरीज का फॉर्मेट

vehicle registration
Image Source: deccan herald

इस नई BH सीरीज के शुरू हो जाने के बाद सबसे अधिक राहत उन लोगों को मिलेगी जिनका ट्रांसफर होता रहता है और उन्हें अपने साथ गाड़ी ले जानी होती है। सड़क परिवहन मंत्रालय ने रक्षा कर्मियों, केंद्र र राज्य के सरकारों के कर्मचारियों, सार्वजनिक उपक्रमों और निजी क्षेत्री की कंपनियों और संगठनों के स्वामित्व वाले निजी वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए इस नई सीरीज की शुरुआत की है। जिनके दफ्तर चार या उससे ज्यादा राज्यों में हैं, वे इसे अप्लाई कर सकते हैं। 

BH रजिस्ट्रेशन का फॉर्मेट YY BH 4144 XX YY रखा गया है। इसमें BH पहले रजिस्ट्रेशन के साल को दर्शाता है, फिर भारत सीरीज कोड 4-0000 से 9999 (रैंडम) XX-अक्षर (AA से ZZ)। यह नंबर प्लेट काले  और सफेद रंग का होगा।  मतलब सफेद बैकग्राउंड पर काले रंग में नंबर दर्ज होगा। शुरुआत BH से होगा।  इसके बाद रजिस्ट्रेशन के साल का अंतिम दो डिजिट और फिर आगे नंबर होगा। 

केंद्रीय व राज्य कर्मचारियों के लिए यह रजिस्ट्रेशन स्वैच्छिक आधार पर होगा। गाड़ी की सफेद नंबर प्लेट पर काले रंग से BH मार्क लिखा जाएगा। इस नए नियम के लिए केंद्रीय मोटर यान (बीसवां संशोधन) नियम 2021 रखा गया है।

टैक्स कितना देना होगा

नोटिफिकेशन के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति BH सीरीज के तहत अपनी 10 लाख से कम कीमत की गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कराता है तो उसे मोटर व्हीकल टैक्स 8 फीसदी देना होगा। 10 से 20 लाख रु. तक की लागत वाले वाहनों के लिए 10% और 20 लाख रुपये से अधिक की लागत वाले वाहनों के लिए 12% रोड टैक्स देना होगा। 

vehicle registration
Image Source: Social Media

इसमें वाहन मालिकों के पास विकल्प होगा। उन्हें दो साल या दो के गुणकों में रोड टैक्स का भुगतान करना होगा। आरटीओ के पास जाने की जरूरत नहीं है, पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। सीधे और आसान शब्दों में BH सीरीज की गाड़ी बेफिक्र होकर अब किसी भी राज्य में ले जाइए और रजिस्ट्रेशन का झंझट भी खत्म हो जाएगा।